भानु के रूप – bhanu ke roop

भानु के रूप – bhanu ke roop- सभी उकारांत शब्दों के रूप इसी तरह चलेंगे

गुरु के रूप – GURU KE ROOP

भानु के रूप – bhanu ke roop

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा भानु भानूगुरव:
द्वितीय भानुम्भानू भानूरून्
तृतीया भानुणाभानुभ्याम्गुरुभि:
चतुर्थीभानवे भानुभ्याम्गुरुभ्याम्
पंचामी भानो:भानुभ्याम्गुरुभ्याम्
षष्ठी भानो:भान्गुरूणाम्
सप्तमी भानौगुर्वो:गुरुषु
संबोधन हे भानोहे भानू हे गुरव:
गुरु के रूप guru ke roop

गुरु शब्द उकारांत पुल्लिंग शब्ब्द की तरह अन्य उकारांत शब्द जैसे शत्रु , पशु, साधु आदि के शब्द रूप इसी तरह चलेंगे |

भानु के रूप – bhanu ke roop

hari ke roop

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top