यूपी बोर्ड परीक्षा छात्र नहीं कर सकेंगे नकल बोर्ड ने किए हाईटेक इंतजाम

यूपी बोर्ड परीक्षा छात्र नहीं कर सकेंगे नकल बोर्ड ने किए हाईटेक इंतजाम

  • नकल रोकने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस
  • नकल रोकने के लिए यूपी बोर्ड ने की हाईटेक व्यवस्था
  • 8513 केंद्रों पर होगी बोर्ड की परीक्षा

यूपी बोर्ड परीक्षा 2021 में लगभग 5600000 छात्र परीक्षा देंगे

परीक्षा कक्षा को बनाया जाएगा हाईटेक, वॉइस रिकॉर्डर युक्त लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

यूपी बोर्ड में पिछले वर्ष परीक्षा में नकल रोकने के लिए पापी इंतजाम किए गए थे जिसके चलते हर कक्ष में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे जिससे हर बच्चे की निगरानी की जा सके इस वर्ष सीसीटीवी कैमरे के साथ-साथ वॉइस रिकॉर्डर कैमरे भी लगाए जाएंगे इसके साथ-साथ एक अलर्ट बॉक्स भी लगाया जाएगा जिसके द्वारा परीक्षा में बैठे हुए कितने छात्र परीक्षा दे रहे हैं कितने छात्र बात कर रहे हैं भीड़ हो रही है या नहीं हो रही है कितने छात्र बाहर जा रहे हैं इन सब की सूचना एकत्रित करके कंट्रोल रूम को भेजेगा इस प्रकार बोर्ड इस बार ज्यादा हाईटेक परीक्षा करवाने जा रहा है

मुन्ना भाई किसी दूसरे छात्रों की परीक्षाएं नहीं दे पाएंगे

यहां पर आपको बता दें कि इस साल लगभग 5600000 छात्र और छात्राएं कक्षा 10 और 12 वीं की परीक्षाएं देंगे जिसमें लगभग 3000000 छात्र कक्षा 10 के परीक्षा देंगे तथा लगभग 2600000 छात्र कक्षा 12 की परीक्षाएं देंगे इस बार मुन्ना भाई जैसे लोगों द्वारा की गई नकल माफिया गिरी धरी की धरी रह जाएगी यूपी बोर्ड ने इस प्रकार के इंतजाम किए हैं परीक्षा के दौरान परीक्षा कक्ष में बाहरी व्यक्ति के घुसने पर पूरी तरह से मना ही रहेगी

इस बार हर कक्ष में लगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बॉक्स हर परीक्षा कक्ष की 9 तरह से निगरानी करेगा तनिक भी गड़बड़ी होने पर यह अलर्ट बॉक्स मुख्य नियंत्रण कक्ष अर्थात कंट्रोल रूम को सूचना दीजिएगा

कमरे में जितने छात्र परीक्षा दे रहे हैं अगर उन छात्रों को परीक्षा कक्ष में कैमरा की निगरानी से इधर-उधर बैठाया या चेहरों को ब्लर किया या 2 छात्र पास पास बैठे मिले या बाहरी व्यक्ति कमरे में प्रवेश करें या ज्यादा शोर हो ऐसे में यह अलर्ट बॉक्स एक्टिव हो जाएगा और कंट्रोल रूम को सूचना भेज देगा नई तकनीक पर आधारित यह सिस्टम छात्रों की गिनती भी करेगा जिससे काम याद ज्यादा छात्र परीक्षा नहीं दे पाएंगे तथा इस तकनीक के द्वारा परीक्षा की लाइव रिकॉर्डिंग भी की जाएगी जो सीधी कंट्रोल रूम के पास सुरक्षित रहेगी

हर परीक्षार्थी को करना होगा कोविड-19 के नियमों का पालन

जैसा की आप सभी को पता है इस बार परीक्षा के दौरान कोविड-19 नियमों का पालन करना आवश्यक है इसलिए इस वर्ष 8513 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं जिसमें परीक्षार्थियों को शारीरिक दूरी का पालन करना होगा

यूपी बोर्ड नकल विहीन परीक्षा कराना चाहता है

यूपी बोर्ड हमेशा से नकल विहीन परीक्षा कराने की कोशिश करता रहा है इसी क्रम में परीक्षा की कॉपियों में पिन लगाने की बजाए धागे से चली हुई कॉपियां परीक्षार्थियों को दी जाएगी इससे परीक्षा के दौरान कापी बदलने की संभावना पूर्ण रूप से खत्म हो जाएगी इसीलिए बोर्ड ने इस बार सभी कवियों को धागे से चल दिया है

परीक्षा केंद्रों पर मजिस्ट्रेट होंगे

इस बार हर परीक्षा केंद्र पर परीक्षा से संबंधित अधिकारी मौजूद रहेंगे इसी क्रम में सेक्टर मजिस्ट्रेट जोनल मजिस्ट्रेट और सुपर जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती के बारे में चर्चाएं चल रही हैं जिला स्तर पर सभी परीक्षा केंद्रों को वेबकास्टिंग के जरिए एक दूसरे से जोड़ा जा रहा है इस बार हर परीक्षा केंद्र की वेबकास्ट को पिछले वर्ष 10% परीक्षा केंद्रों की वेबकास्टिंग की गई थी परीक्षाओं से संबंधित सभी प्रकार के कंट्रोल रूम जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में ही बनाए जाएंगे

40 परीक्षार्थियों से अधिक होने पर होंगे 2कक्ष निरीक्षक

परीक्षा केंद्रों पर 40 परीक्षार्थियों से कम छात्रों पर एक परीक्षण तथा 40 छात्रों से अधिक छात्र होने पर दो परीक्षक परीक्षा कक्ष में ड्यूटी देंगे तथा बीच-बीच में आकस्मिक सचल दस्ते भी जांच करते रहेंगे इस साल की वेबकास्टिंग की जाएगी जरूरत पड़ने पर सचल दल छात्रों की तलाशी भी लेंगे छात्रों की तलाशी केवल महिला शिक्षक द्वारा ली जाएगी कोई भी पुरुष टीचर महिला टीचर के साथ ही बालिकाओं के कक्ष में जा सकते हैं कोई भी पुरुष टीचर बालिकाओं की तलाशी नहीं ले सकेगा जिसके लिए विद्यालय द्वारा एक महिला टीचर समेत तीन सदस्य आंतरिक सचल दल बनाया जाएगा जो समय-समय पर छात्रों की तलाशी ले सकेंगे तथा परीक्षा में कोई भी गड़बड़ी होने पर आवश्यक कार्यवाही भी कर सकेंगे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top