Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution, up board english text book class 10,

BoardUp Board
Text book English GRAMMAR
Class 10
TopicEnglish syllabus
Chapter1
Mediumhindi
CategoriesClass 10 English
upboardinfo.in

Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) पाठ का सम्पूर्ण अनुवाद

Up Board Class 10 English Solution Chapter -1 The Enchanted Pool
Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

Socrates lived in Athens about 400 years B.C. As a boy he was ugly and undersized. He had a flat nose and bulging eyes. His father was a poor stone-cutter. At school he learned music and gymnastics. He also learned some science and mathematics and a little about the stars. This strange creature with a short neck and plain face was a thoughtful child. He allowed very few things to escape his notice.


He did not have a big house or fine furniture. He did not seem to want either wealth or beautiful possessions. He gave to his mind all that was noble, honourable and just.


He went round the town on foot and talked to people. He told his countrymen that everyone must learn to think for himself, so that by using his reason he would have the power to see what was right, just, true and beautiful and so shape his own conduct. He wanted Athens to be a perfect state.
II When Socrates was an old man, his fame had spread far and wide. He taught that man’s own mind influences his conduct more than the gods.
The men who were governing Athens summoned Socrates to appear before them and to stand his trial. The government officials as well as some people thought that he was misleading the young.


Socrates spoke to the court in his defence, but the judges found him guilty and condemned him to death. Plato and other disciples of Socrates wept bitterly when he was given a cup of poison to drink. Thus, Socrates, the greatest of all the Greeks was dead.

ईसा मसीह के जन्म से लगभग 400 वर्ष पूर्व सुकरात एथेन्स में रहता था । बचपन में वह बदसूरत व छोटे कद का था । उसकी नाक चपटी और आँखें उभरी हुई थी । उसका पिता एक गरीब पत्थर काटने वाला था । स्कूल में उसने संगीत और शारीरिक व्यायाम सीखे । उसने कुछ गणित और विज्ञान भी सीखा और सितारों के बारे में भी थोड़ा ज्ञान प्राप्त किया । यह छोटी गर्दन और सपाट चेहरे वाला व्यक्ति एक विचारशील बच्चा था । वह बहुत कम चीजों को अपने ध्यान से बचने देता था ।

Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution
उसके पास बड़ा घर अथवा सुंदर फर्नीचर नहीं था । वह धन अथवा कीमती वस्तुओं को प्राप्त करने की इच्छा नहीं रखता था । उसने अपना दिमाग उन चीजों में लगाया जो श्रेष्ठ, सम्मानजनक और न्यायसंगत था ।


वह कस्बे में पैदल घूमता रहता था और लोगों से बातें करता रहता था । उसने अपने देशवासियों को बताया कि प्रत्येक व्यक्ति को स्वयं के बारे में सोचना चाहिए ताकि अपनी तर्कशक्ति का प्रयोग करके वह यह देखने की शक्ति प्राप्त कर सके कि कौन-सी चीज ठीक, न्यायसंगत, सत्य और सुंदर हैं और इस प्रकार अपने आचरण को ढाल सके । वह एथेन्स को एक आदर्श राज्य बनाना चाहता था ।


जब सुकरात बूढ़ा हो गया, उसकी प्रसिद्धि दूर-दूर तक फैल गई । उसने सिखाया कि मनुष्य के स्वयं का मस्तिष्क देवताओं की अपेक्षा उसके आचरण को अधिक प्रभावित करता है ।
एथेन्स के शासकों ने सुकरात को अपने सामने उपस्थित होने और मुकदमे में अपनी सफाई देने के लिए न्यायालय में बुलाया । सरकारी अधिकारियों और साथ-साथ कुछ अन्य लोगों ने सोचा कि वह नवयुवकों को गलत मार्ग पर ले जा रहा है ।

Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution
सुकरात अदालत में अपने पक्ष में बोले किंतु न्यायधीशों ने उसे दोषी करार दिया और मृत्युदंड दे दिया । जब सुकरात को जहर का प्याला पीने को दिया गया तो प्लेटो और उसके दूसरे शिष्य फूट-फूटकर रोने लगे । इस प्रकार सुकरात, यूनानियों में सबसे अधिक महान, मर चुका था ।

COMPREHENSION :—-. Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) पाठ का सम्पूर्ण अनुवाद

Read the following passages and answer the questions that follow:
[A] Socrates lived…………………………………………………………………………….. honourableandjust.
Vocabulary
:
ugly————————————- बदसूरत
undersized———————————–छोटे कद का
flat nose ———————————– चपटी नाक
bulging ———————————–उभरी हुई


stone-cutter ———————————– पत्थर काटने वाला
shabbily ———————————–फटेहाल, गरीब की तरह
gymnastics ———————————– व्यायाम विद्या
geography ———————————–भूगोल
strange ———————————– विचित्र
creature ———————————– प्राणी
thoughtful ———————————– विचारशील
companions———————————– साथी


escape ———————————– बचकर निकलना
wealth———————————– धन
possessions ———————————–सामान
comfort———————————–आराम
pleasure ———————————–आनंद
noble
honourable ———————————— सम्मानजनक
just———————————— न्यायसंगत


हिंदी अनुवाद– सुकरात ईसा के जन्म से लगभग 400 वर्ष पूर्व एथेन्स में रहते थे । वे बचपन से बदसूरत तथा छोटे कद थे । उनकी नाक चपटी और आँखें बाहर को निकली हुई थीं । उनके पिता पत्थर काटने वाले एक निर्धन व्यक्ति थे । इसलिए उनके कपड़े सदा फटे-पुराने रहते थे । अपनी आयु के अन्य बच्चों की भाँति वे स्कूल जाते थे जहाँ सबसे महत्वपूर्ण विषय संगीत एवं शारीरिक व्यायाम थे । उन्होंने विज्ञान, गणित तथा तारों के विषय में भी थोड़ा ज्ञान प्राप्त किया ।

लेकिन आजकल के बच्चों की भाँति उन्होंने इतिहास तथा भूगोल याद नहीं किया । वे छोटी गर्दन तथा साधारण चेहरे वाले विचित्र प्राणी एक चिंतनशील बालक थे । वे हर समय अपने साथियों का अवलोकन करते रहते थे । बहुत ही कम ऐसी चीजे थीं जो उनकी दृष्टि से बच पाती थी । सुकरात के पास न तो बड़ा मकान था और न ही अच्छा फर्नीचर । उन्हें धन या अच्छी चीजों की भी इच्छा नहीं थी । जैसे-जैसे वे बड़े होते गए, उन्होंने अपने शारीरिक आराम और सुख की ओर सोचना बिल्कुल बंद कर दिया । वे केवल श्रेष्ठ, सम्मानपूर्ण तथा न्यायसंगत बातों के विषय में ही सोचते थे ।


Q1: When and where did Socrates live?
(सुकरात कब और कहाँ रहते थे?)
Ans: Socrates lived in Athens about four hundred year before Jesus Christ was born.
(सुकरात ईसा के जन्म से 400 वर्ष पूर्व एथेन्स में रहते थे । )

Q2: Describe physical appearance of Socrates?
(सुकरात की आकृति का वर्णन कीजिए । )
Ans: Socrates was ugly, undersized and had a flat nose and bulging eyes.
(सुकरात बदसूरत और बोने थे तथा उनकी नाक चपटी और आँखें बाहर उभरी हुई थीं । )
Q3: Why was Socrates always shabbily dressed?
(सुकरात सदा गंदे कपडे क्यों पहने रहते थे?)
Ans: Socrates was always shabbily dressed because his father was a poor stone-cutter.
(सुकरात सदा गंदे कपडे पहने रहते थे क्योंकि उनके पिता गरीब पत्थर काटने वाले थे । )

Q4: What were the most important lessons at school in those days?
(उन दिनों स्कूल में कौन से मुख्य पाठ पढाए जाते थे?)
Ans: The most important lessons at school in those days were music and gymnastics.
(उन दिनों स्कूल में मुख्य पाठ संगीत और शारीरिक व्यायाम पढ़ाए जाते थे । )


Q5: How do you know that Socrates was a thoughful child?
(आप कैसे जानते हैं कि सुकरात चिंतनशील बच्चे थे?)
Ans: Socrates was a thoughtful child because he watched his companions all the time.
(सुकरात चिंतनशील बच्चे थे क्योंकि वे प्रत्येक समय अपने साथियों को देखते रहते थे । )


Q6: What was the financial condition of Socrates’ family?
(सुकरात के परिवार की आर्थिक स्थिति कैसी थी?)
Ans: The financial condition of Socrates’s family was not good.
(सुकरात के परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी । )

Q7: What did Socrates begin to think as he grew order?
(जैसे ही सुकरात बड़े हुए उन्होंने क्या सोचना शुरू किया?)
Ans: As Socrates grew older he began to think very little of bodily comfort and pleasures. He gave his mind
to all that was noble, honourable and just.
(जैसे ही सुकरात बड़े हुए उन्होंने अपने शारीरिक आराम और आनंद के बारे में सोचना छोड़ दिया । उन्होंने अपना चित्त उन
बातों में लगा दिया जो श्रेष्ठ, सम्मानपूर्ण और न्यायोचित थीं । )

Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution
[B] Socrates wentaround…………………………………………………………….Socrates himself.
Vocabulary
:
town———————————– कस्बा
familiar———————————–परिचित
figure ———————————— आकृति
streets———————————— गलियाँ
famous ———————————–प्रसिद्ध
wandered———————————–घूमता था
greet ———————————–स्वागत करना

confused———————————–परेशान
argued ———————————–बहस करना, तर्क देना
shape———————————–ढालना conduct आचरण
perfect———————————–आदर्श
pupils———————————– शिष्य
followers———————————–अनुयायी


citizen ———————————–नागरिक
forever———————————–सदैव
far and wide———————————दूर दूर तक
–by degrees – ———————————-धीरे-धीरे
treasured ——————————— संचित किया
uttered———————————– कहा


हिंदी अनुवाद- सुकरात नगर में पैदल घूमते थे और लोगों से बातें करते थे । एथेन्सवासियों ने गलियों में उनकी परिचित आकृति की प्रतीक्षा करना और अपने मित्रों से यह कहना शुरू कर दिया, “हाँ, यही सुकरात है । मेरे साथ आओ उनसे बातें करो । ” कुछ समय के बाद सुकरात एक अध्यापक के रूप में प्रसिद्ध हो गए । वह सड़कों पर घूमते रहते थे और बाजारों या व्यस्त जगहों पर खड़े होकर उन सबसे बातें करते थे जो उन्हें सम्मान देते थे ।

उनको सुनने वाले उनसे बहस करके या उनके प्रश्नों के उत्तर देकर प्रायः दुविधा में पड़कर निरूत्तर हो जाते थे । सुकरात ने अपने देशवासियों से कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को अपने स्वचिंतन की योग्यता का विकास करना चाहिए जिससे वह अपनी तर्कशक्ति का प्रयोग करके यह जान सके कि क्या उचित, न्यायपूर्ण, सत्य और सुंदर है और फिर उसी के अनुसार अपना आचरण बनाए रख सके ।

वे एथेन्स को एक पूर्ण आदर्श राज्य देखना चाहते थे । वे अपने शिष्यों और दूसरे अनुयायियों से कहा करते थे कि ऐसा तभी हो सकता है, जबकि प्रत्येक नागरिक अपने मस्तिष्क को यह जानने के लिए शिक्षित करे कि क्या सही है और श्रेष्ठ है? उनका विश्वास था कि प्रश्न पूछने और वाद-विवाद से ऐसा करने में उनको सहायता मिलेगी । इसी कारण वे हमेशा आम रास्तों पर खड़े होकर उनसे बातें करते थे । जब सुकरात वृद्ध हो गए तो उनकी ख्याति दूर-दूर तक फैल गई ।

अनेक धनवान व्यक्तियों ने अपने द्वार उनके लिए खोल दिए, क्योंकि लोग उनको अपना अतिथि बनाने में स्वयं को सम्मानित हुआ मानते थे । धीरे-धीरे उनके ऐसे शिष्य बन गए, जो जहाँ कहीं वे जाते थे, उनके साथ चलते थे । उनमें से प्लेटो नामक एक नवयुवक भी था जो अपने गुरु द्वारा कहे गए प्रत्येक शब्द को संचित कर लेता था और आगे चलकर वह सुकरात के समान ही प्रसिद्ध अध्यापक बना ।


Q1: How did people of Athens begin to recognize Socrates?
(एथेन्स के लोगो ने सुकरात को कैसे पहचानना शुरू कर दिया था ?)
Ans: People of Athens began to recognize Socrates as familiar figure.
(एथेन्स के लोगो ने सुकरात को परिचित आकृति के रूप में पहचानना शुरू कर दिया था । )


Q2: Why did Socrates wander along streets and stand in market places?
(सुकरात सड़कों पर क्यों घूमते थे तथा बाजारों में क्यों खड़े हो जाते थे?)
Ans: Socrates wandered along the streets and stood in the market places to talk to the people who greeted
him.
(सुकरात उन व्यक्तियों से बात करने को सड़कों पर घूमते और बाजार में खड़े हो जाते थे, जो उनका अभिवादन करते थे । )

Q3: Why should man use his reason, according to Socrates?
(सुकरात के अनुसार मनुष्य को अपनी तर्कशक्ति का प्रयोग क्यों करना चाहिए?)
Ans: According to Socrates by using his reason, man would have the power to see what was right, just, true
and beautiful.
(सुकरात के अनुसार अपनी तर्कशक्ति का प्रयोग करके मनुष्य को यह देखने की शक्ति प्राप्त होगी कि क्या ठीक, न्यायपूर्ण,
सत्य और सुंदर है । )

Q4: What changes occured in Socrates, life as he grew older?
(जब सुकरात बड़े हुए उनके जीवन में क्या परिवर्तन हुए?)
Ans: When Socrates grew older, he began to think very little of bodily comfort and pleasure. He began to
think about what is noble, honourable and just.
(जैसे-जैसे सुकरात बड़े हुए उन्होंने अपने शारीरिक सुख और आराम की ओर सोचना बंद कर दिया । वे केवल उन्हीं बातों के __विषय में सोचने लगे जो अच्छी, सम्मानजनक और न्यायोचित थीं । )


Q5: Who was Plato?
(प्लेटो कौन था?)

Ans: Plato was pupil of Socrates. He treasured every word which his master uttered.
(प्लेटो सुकरात का शिष्य था । वह अपने गुरु द्वारा कहे गए प्रत्येक शब्द को संचित करता था । )


[C] Butalthough………………………………………………………………. shabbygarments.
Vocabulary:
delighted ———————————–प्रसन्न
wisdom———————————–विद्वता, बुद्धि
approve of ———————————–सिद्ध किया, समर्थन करना
influenced———————————–प्रभावित करना
conduct ———————————–आचरण


wicked———————————–दुष्टतापूर्ण
deeds ———————————–कार्य
sacrifices———————————–बलि देना
astray———————————–किसी को उचित मार्ग से विचलित करना
doubt ———————————–संदेह


were governing———————————– – शासन कर रहे थे
summoned ———————————–किसी को न्यायालय के समक्ष बुलाना
appear———————————–उपस्थित होना
stand trial———————————– न्यायिक प्रक्रिया से गुजरना
escape———————————–बचना


hide ———————————–छिपना
storm———————————–तूफान
blown over ———————————–शांत होना
coward———————————–कायर
believed ———————————–विश्वास
travel-stained ———————————— यात्रा से थका हुआ
garments ———————————— कपड़े


हिंदी अनुवाद– यद्यपि बहुत से लोग उस बूढ़े व्यक्ति से प्रेम करते थे तथा उसकी विद्वता से आनंदित होते थे, किंतु कुछ ऐसे भी थे जो उनकी बातों से सहमत नहीं थे । उन्होंने सिखाया कि मनुष्य का मस्तिष्क देवी-देवताओं की अपेक्षा व्यक्ति के आचरण को प्रभावित करता है ।

कुछ लोगों को यह विचार नया और दुष्टतापूर्ण लगा । उन्होंने कहा कि एथेन्स और यूनान के देवी-देवताओं को बलि देने की अपेक्षा अधिक श्रेष्ठ तथा महान कार्य और भी हैं । अनेक लोगों ने सोचा कि वे नवयुवकों को गलत राह पर ले जा रहे हैं । जो अब तक उन्हें सिखाया गया है वह उस ज्ञान पर संदेह कर रहे हैं और उनके मस्तिष्क को संदेह से भर रहे हैं । एथेन्स के शासकों ने सुकरात को अपने सामने उपस्थित होने और मुकदमे में अपनी सफाई देने के लिए बुलाया ।

उनके मित्रों ने उनसे तूफान शांत हो जाने तक भाग जाने या छिप जाने की प्रार्थना की । परंतु सुकरात कायर नहीं थे । वे जानते थे कि उन्होंने कोई गलत कार्य नहीं किया है और केवल वही सिखाया है जिसे वे सही, उचित और सम्माननीय समझते थे और इसलिए वे न्यायालय में गए । एक लंबी यात्रा के कारण उनके कपड़े और जूते गंदे धब्बों और धूल से भर गए थे । परंतु प्रत्येक व्यक्ति जानता था कि इन गंदे कपड़ों में एक उदार हृदय की धड़कन छिपी हुई है ।


Q1: What did Socrates teach people?
(सुकरात ने लोगों को क्या सिखाया?)
Ans: Socrates taught that man’s own mind influences his conduct more than the gods.
(सुकरात ने सिखाया कि मनुष्य का अपना मस्तिष्क देवी-देवताओं की अपेक्षा उसके आचरण को अधिक प्रभावित करता
है । )

Q2: Why did some people find Socrates’ ideas to be wicked?
(कुछ लोगों ने सुकरात के विचारों को दुष्टतापूर्ण क्यों पाया?)
Ans: Some people found Socrates’ ideas to be wicked because they thought that he was leading the young
astray.
(कुछ लोगों को सुकरात के विचार दुष्टतापूर्ण लगे क्योंकि उन्होंने सोचा कि वे नवयुवकों को गलत राह पर ले जा रहे हैं । )

Q3: What did Socrates’ friends beg him to go?
(सुकरात के मित्रों ने उनसे कहाँ जाने की प्रार्थना की?)
Ans: Socrates’ friends begged him to escape or to hide untill the storm had blown over.
(सुकरात के मित्रों ने उनसे तूफान के शांत होने तक बचकर भाग जाने या छिप जाने की प्रार्थना की । )

Q4: Why did Socrates not escape?
(सुकरात बचकर क्यों नहीं भागे?)
Ans: Socrates was not coward so he did not escape.
(सुकरात कायर नहीं थे इसलिए वे बचकर नहीं भागे । )

Q5: How can you say that Socrates was not coward?
(आप कैसे कह सकते हैं कि सुकरात कायर नहीं थे?)
Ans: When Socrates’ friends begged him to escape or to hide, he did not escape. So we can say that he was not
coward. (जब सुकरात के मित्रों ने उनसे बचकर भाग जाने या छिप जाने की प्रार्थना की, वे बचकर नहीं भागे इसलिए हम कह सकते हैं
कि वे कायर नहीं थे । )


Q6: Why did people love and respect Socrates despite his shabby dress?
(लोग सुकरात के गंदे कपड़ों के बावजूद उनसे प्रेम तथा उनका सम्मान क्यों करते थे?)
Ans: Despite Socrates’ shabby dress, people loved and respected him for his noble heart.
(सुकरात के गंदे कपड़ों के बावजूद लोग उनके उदार हृदय के कारण उन्हें प्रेम तथा सम्मान देते थे । )
Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

[D] He made a………………………………………………………………………. ourlives as orphans.”
Vocabulary: Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution
dignified———————————–शानदार
willing———————————–इच्छुक
condemned to death———————————–मृत्युदंड
complaint———————————–शिकायत
leaned———————————–झुका हुआ
crowded———————————-भीड़ से भरा
evil———————————–बुरा


cheer———————————–हर्ष
departure———————————–प्रस्थान
prison———————————–जेल
favourite———————————–बहुत प्रिय
bereaved———————————–शोक-संतप्त
the rest———————————–शेष
orphans———————————–अनाथ

हिंदी अनुवाद- उन्होंने एक सशक्त और शानदार भाषण दिया । उन्होंने एथेन्सवासियों से कहा कि उनके जीवन के कुछ वर्ष लेकर उन्हें कोई लाभ नहीं होगा, परंतु जिस बात को वे उचित समझते हैं उसके लिए वे अनेक बार मरने को तैयार हैं । न्यायाधीशों ने उनकी बात को सुना, उनसे प्रश्न पूछे और उन्हें मृत्युदंड दे दिया । उस वृद्ध व्यक्ति ने कोई शिकायत नहीं की । वह अपनी छड़ी पर झुके हुए भीड़ से खचाखच भरी अदालत को देखता रहा । प्लेटो और उनके अन्य शिष्य पूरे समय अदालत में थे ।

उन्होंने उनसे कहा, “अच्छे व्यक्ति का उसके जीवन में या मृत्यु के बाद कोई बुरा नहीं हो सकता । अत: तुम प्रसन्न रहो, मुझे जाना ही है । मेरे जाने का समय आ गया है और हमें अपने-अपने मार्ग पर जाना है, मुझे मरने के लिए और तुम्हें जीवित रहने के लिए । ” तब सिपाही आए और उन्हें जेल ले गए । उनकी पत्नी तीन बच्चों को लेकर उनके साथ गई ।

उनके अनेक प्रिय शिष्य भी उनके साथ थे । बहुत देर तक उन्होंने सुकरात से बातें की और सुकरात ने उन्हें बहुत से शिक्षाप्रद उपदेश दिए जिन्हें उन्होंने हृदयंगम कर लिया । परंतु पूरे समय उनके मित्र यही अनुभव करते रहे कि सुकरात शीघ्र ही मर जाएँगे । वे दुःखी थे । “क्योंकि”, जैसा प्लेटो ने लिखा है, “वह हमारे लिए पिता तुल्य थे, जिससे हमें वंचित किया जा रहा है और अब हमें शेष जीवन अनाथों कीClass 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution तरह व्यतीत करना पड़ेगा । “


Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution
Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

Q1: What did Socrates tell the Athenians?
(सुकरात ने एथेन्सवासियों से क्या कहा?)
Ans: Socrates told Athenians that they would gain nothing by taking away the last few years of his life, but
that he was willing to die many deaths for what he believed to be right.
सुकरात ने एथेन्सवासियों से कहा कि उनके जीवन के कुछ वर्ष लेकर उन्हें कोई लाभ नहीं होगा, परंतु जिस किसी बात को
वे उचित समझते हैं उसके लिए वे अनेक बार मरने को तैयार हैं । ) Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution


Q2: How did the judge punish Socrates?
(न्यायधीश ने सुकरात को दंड कैसे दिया?)
Ans: The judge listened to him, questioned him and condemned him to death.
(न्यायधीश ने उनकी बात को सुना, प्रश्न पूछे तथा उन्हें मृत्युदंड दे दिया । )

Q3: Why did Socrates make no complaint?
(सुकरात ने शिकायत क्यों नहीं की?) ।
Ans: Socrates made no complaint because he believed no evil can happen to a good man.
(सुकरात ने शिकायत नहीं कि क्योंकि वह विश्वास करते थे कि अच्छे व्यक्ति का कुछ भी बुरा नहीं हो सकता । )

Q4: What did Socrates say to his pupil after the judgement?

(निर्णय के बाद सुकरात ने अपने शिष्यों से क्या कहा?)
Ans: Socrates told his pupils, “No evil can happen to a good man either in life or after death. So be of good
cheer.” His time of departure had come. He taught them many good lessons.
(सुकरात ने अपने शिष्यों से कहा, “अच्छे व्यक्ति का उसके जीवन में या मृत्यु के बाद कोई बुरा नहीं हो सकता । अत: तुम
प्रसन्न रहो । ” उसके मरने (प्रस्थान) का समय आ गया था । उसने अपने शिष्यों को बहुत सी अच्छी शिक्षाएँ दीं । )

Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

Q5: What did Plato write about Socrates’ death?
(प्लेटो ने सुकरात की मृत्यु के विषय में क्या लिखा?)
Ans: Plato wrote, “he was like a father of whom we were being bereaved and we were about to pass the rest of
our lives as orphans.”
(प्लेटो ने लिखा, “ वह हमारे लिए एक पिता तुल्य थे, जिससे हमें वंचित किया जा रहा है और हमें शेष जीवन अनाथों की
तरह व्यतीत करना पड़ेगा । )


Q6: Who all followed Socrates when he was taken to the prison?
(जब सुकरात को जेल लेकर गए, उनके साथ कौन थे?)
Ans: When Socrates was taken to the prison, his wife with his three children and many of his favourite pupils
followed him.
(जब सुकरात को जेल लेकर गए तो उनकी पत्नी तीनों बच्चों को लेकर तथा उनके अनेक प्रिय शिष्य उनके साथ गए । )

[E] After the sun……………………………………….sound of weeping.

Vocabulary: Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

condemned to die ——————————————————– मृत्युदंड
poison ——————————————————-जहर

nodded ———————————————-स्वीकृति के लिए गर्दन हिलाना

angry———————————————नाराज होना, क्रोधित होना Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

guilty cause—————————दोषी
bursting————————————————–फूट-फूट कर रोते हुए

tears – ————————————–आँसू
prosper——————————————————-उन्नति करना

lifted——————————————————- उठाया
sobbed———————————————————–सिसकी भरी

distressed ——————————————————– धैर्य तोड़ दिया

हिंदी अनुवाद– पेड़ों की चोटियों के पीछे सूर्य के छिपने के बाद अर्थात् सायंकाल के बाद जेलर आया । उसने सुकरात से मरने के लिए तैयार होने के लिए कहा । एथेन्स में जब लोगों को मृत्युदंड देते थे, तो उन्हें एक जहर का प्याला पीने के लिए दिया जाता था । सुकरात इस बात को जानते थे । Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

उन्होंने सिर हिलाकर जेलर को सहमति दे दी, जो दु:ख के साथ यह कहता हुआ उनकी ओर देख रहा था, “आप सुकरात, जिसे मैं इस स्थान पर अब तक जाने वाले सभी व्यक्तियों में सबसे उदार, सज्जन और श्रेष्ठ मानता हूँ, मुझसे नाराज तो नहीं होंगे जब मैं आपको जहर पीने के लिए कहूँगा, क्योंकि इसका दोषी मैं नहीं, बल्कि अन्य व्यक्ति हैं ।

” फूट-फूटकर रोता हुआ वह बाहर गया और एक जहर का प्याला लेकर लौटा । सुकरात ने कहा “ईश्वर मेरी इस लोक से दूसरे लोक की यात्रा सफल करो । ” और जहर का प्याला उठाकर होठों से लगा लिया । उसके शिष्यों ने अपने आँसुओं को रोकने का प्रयास किया, लेकिन उनमें से एक जोर-जोर से सिसकियाँ भरने लगा और इससे अन्य भी रोने लगे तथा शीघ्र ही कमरा रोने की आवाजों से भर गया । Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

p Q1: Who asked Socrates to be prepared for death?
(सुकरात से मृत्यु के लिए तैयार होने के लिए किसने कहा?)

Ans: The jailor asked Socrates to be prepared for death.
(जेलर ने सुकरात से मृत्यु के लिए तैयार होने के लिए कहा । )

Q2: How were people punished with death penalty in Athens?
(एथेन्स में लोगों को मृत्यु की सजा कैसे दी जाती थी?)

Ans: Acup of poison was given to drink to the people who were punished with death penalty in Athens.
(एथेन्स में जिन लोगों को मृत्यु की सजा दी जाती थी उन्हें जहर का प्याला पीने के लिए दिया जाता था । )

Q3: What did the jailor say to Socrates?
(जेलर ने सुकरात से क्या कहा?)

Ans: The jailor told Socrates that he was the noblest, gentlest and best of all whoever came to that place.
(जेलर ने सुकरात से कहा कि उस स्थान पर जितने भी व्यक्ति आए, उनमें वे सर्वश्रेष्ठ, सज्जन और सर्वोत्तम व्यक्ति हैं । )

Q4: What did Socrates say as he lifted the cup of poison to his lips?
(जहर के प्याले को अपने होठों से लगाते समय सुकरात ने क्या कहा?)
Ans: As Socrates lifted the cup of poison to his lips, he said, “May the God prosper my journey from this to
other world.”

(जहर के प्याले को अपने होठों से लगाते समय सुकरात ने कहा, “ईश्वर इस संसार से उस संसार की मेरी यात्रा को सफल
बनाए । “)

Q5: How did his pupils react when Socrates was poisoned?
(जब सुकरात को जहर दिया गया उनके शिष्यों की क्या प्रतिक्रिया थी?)

Ans: When Socrates was poisoned, one of his pupil sobbed aloud, then other also wept bitterly.
(जब सुकरात को जहर दिया गया, उनका एक शिष्य जोर से सिसकने लगा, फिर और भी जोर-जोर से रोने लगे । )

[F] Socrates paused………………………………………………….Greeks was dead.

Vocabulary: Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

paused ——————————————————-रुका

unfinished——————————————————-अधूरा

silent ——————————————————-शांत

patience——————————————————-धैर्य

whispered ——————————————————-धीरे से बोला

favour——————————————————-कृपा, अहसान

owe ——————————————————-ऋण

greatest——————————————————-महानतम्

हिंदी अनुवाद- जहर का प्याला समाप्त किए बिना ही सुकरात बीच में रुके और बोले, “यह कैसा विचित्र शोर है? मैंने सुना है कि व्यक्ति को शांतिपूर्वक मरना चाहिए । तुम्हें रोना नहीं चाहिए । शांत हो जाओ व धैर्य रखो । ‘ किसी बात को याद करते हुए उन्होंने चारों तरफ देखा । उन्होंने अपने शिष्यों में से एक से धीरे से कहा, “क्रीटो, क्या तुम मुझ पर एक अहसान कर सकते हो? Up Board Class 10 English Chapter -3 THE GANGA FULL SOLUTION सम्पूर्ण पाठ का हल प्रश्न और उत्तर सहित

मैं एस्कुलेपियस के एक मुर्गे का ऋणी हूँ । क्या तुम इस ऋण को चुका दोगे?’ क्रीटो ने उत्तर दिया- “यह ऋण चुका दिया जाएगा । क्या और कुछ बात है?” वह कुछ देर रुका लेकिन कोई उत्तर नहीं मिला, क्योंकि समस्त यूनानियों में महानतम् सुकरात मर चुके थे ।

Q1: What did Socrates say to his pupils when they were weeping badly?
(जब सुकरात के शिष्य बुरी तरह रो रहे थे उन्होंने उनसे क्या कहा?)

Ans: When Socrates’pupils were weeping badly he said them to be silient and have patience.
(जब सुकरात के शिष्य बुरी तरह रो रहे थे, उन्होंने उनसे शांत रहने तथा धैर्य रखने के लिए कहा । )

Q2: What did Socrates ask Crito to do?
(सुकरात ने क्रीटो से क्या करने के लिए कहा?)

Ans: Socrates asked Crito to pay his debt to Aesculapius.
__(सुकरात ने क्रीटो से एस्कुलेपियस का कर्ज चुकाने के लिए कहा । )

Q3: What did Crito reply?
(क्रीटो ने क्या उत्तर दिया?)

Ans: Crito replied, “It shall be paid.”

(क्रीटो ने उत्तर दिया, “यह ऋण चुका दिया जाएगा । ‘)

Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution

1 thought on “Class 10 English Prose Chapter 4 SOCRATES (Rhoda Power) full solution”

  1. Pingback: Up Board Class 10 English Our Indian Music : Stories And Anecdotes Full Solution – UP Board INFO

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top