Up Board Class 10 English Solution Chapter -1 The Enchanted Pool

Up Board Class 10 English Solution Chapter -1 The Enchanted Pool हिन्दी अनुवाद प्रश्न उत्तर सम्पूर्ण पाठ का हल


Up Board Class 10 English Solution chapter 1 The Enchanted Pool पाठ का हिन्दी अनुवाद प्रश्न उत्तर सहित

Up Board Class 10 English Solution Chapter -1 The Enchanted Pool
Up Board Class 10 English Solution Chapter -1 The Enchanted Pool
                                                     Summary in English


Yudhishthira was the eldest of Pandavas. He was known as ‘Dharmaraj’. Once Yama, the Lord of Death, decides to put him into a test and he takes the form of the Yaksha. Yaksha creates a pool. Each Pandava tries to drink water without answering the Yaksha’s questions and hence dies. When Yudhishthira comes near the pool, Yaksha puts many questions to be answered by Yudhishthira. In these questions were included: Who saves man in difficulty? Which moves faster than wind? What is more faded than a dried straw? Who is friend of a traveller? Who accompanies a man in death? By and so on. Yudhishthira answers all these questions of Yaksha wisely.
. By wit of answering the questions, the Yaksha is impressed by the Dharmaraj. And he puts life again into the heart of all the four brothers of Yudhishthira. At last the Yaksha shows the real form of Dharmaraj and after embracing Yudhishthira he vanished away into the sky.

                                           Summary in Hindi


युधिष्ठिर पांडवों में सबसे बड़े थे । वे ‘धर्मराज’ के नाम से जाने जाते थे । एक बार मृत्यु के देवता, यम उनकी परीक्षा लेने का फैसला करते हैं तथा यक्ष का रूप धारण कर लेते हैं । यक्ष एक सरोवर का निर्माण करते हैं । प्रत्येक पांडव यक्ष के प्रश्न का उत्तर दिए बिना सरोवर का पानी पीने का प्रयत्न करता है अंतत: मर जाता है । जब युधिष्ठिर सरोवर के पास आते हैं, यक्ष युधिष्ठिर के सम्मुख बहुत-से प्रश्न रखते हैं । इन प्रश्नों में शामिल थे- संकट में इंसान को कौन बचाता है? हवा से तीव्र गति से चलने वाला क्या है? तिनके से अधिक मुरझाया हुआ क्या होता है? यात्री का मित्र कौन है? मृत्यु के बाद इंसान के साथ कौन जाता है? आदि । युधिष्ठिर इन सभी प्रश्नों का बुद्धिमत्तापूर्वक उत्तर देते हैं ।
धर्मराज द्वारा प्रश्नों के जवाब देने की वाकपटुता से यक्ष प्रभावित होते हैं और वे युधिष्ठिर के चारों भाइयों को दोबारा जीवन दे देते हैं । अंत में, यक्ष, अपना धर्मराज का वास्तविक रूप प्रकट करते है और युधिष्ठिर को गले लगाने के बाद आकाश में गायब हो जाते हैं ।


COMPREHENSION:-


Read the following passages and answer the questions that follow:


[A] Yudhishthirawaited…… ………… his voiceand wept.
Vocabulary:
anxiety – चिंता, व्याकुलता
thirst ——-प्यास
subjected – अधीन करना, हराना
curse———श्राप
still – अभी भी
wandering – घूम रहे हैं
forest – जंगल
search – तलाश
water – पानी
fainted – बेहोश होना, मूर्च्छित होना
proceeded – आगे बढ़ना
direction – दिशा
tracts – इलाके, रास्ते
wild ——–जंगली
bear – भालू
spotted deer – चित्तीदार हिरन
forest birds – जंगली चिड़ियाँ
meadow flagpoles खंभे
restrain – संयम
grief – दु:ख
lifted voice – सँधी हुई आवाज
wept——- रोने लगे

हिंदी अनुवाद– युधिष्ठिर प्यासे थे और व्याकुलता के साथ अपने भाइयों के लौटने का इंतजार कर रहे थे । “क्या उन्हें किसी ने श्राप दे दिया है या अब तक वे लोग पानी की तलाश में ही घूम रहे हैं? कहीं वे प्यास के मारे बेहोश तो नहीं हो गए या काल के गाल में समा गए हों? इन असहनीय विचारों और प्यास से बेहाल होने के कारण उन्होंने इंतजार करना छोड़ा तथा भाइयों व तालाब की तलाश में उम्मीद के साथ स्वयं ही चल पड़े । युधिष्ठिर उसी दिशा में आगे बढ़ चले, जिस ओर उनके भाई गए थे । जंगली भालुओं, चित्तीदार हिरनों एवं विशाल जंगली चिड़ियों से पूरा रास्ता भरा पड़ा था । इसको पार करके वे हरे-भरे घास के मैदान में पहुँच गए, जिसके बीच में साफ पानी का एक सरोवर था । लेकिन जब उन्होंने वहाँ पर अपने भाइयों को खंभे की तरह पड़े देखा, तो वे अपने दुःख पर काबू नहीं कर पाए । उनकी आवाज रुंध गईं और वे रोने लगे ।


Q1: What had Yudhishthira‘s brothers gone in search of?
(युधिष्ठिर के भाई किसकी तलाश में गए थे?)
Ans: Yudhishthira’s brothers had gone in search of water.
(युधिष्ठिर के भाई पानी की तलाश में गए थे । )
Q2: What fear striked Yudhishthira’s mind when his brothers did not come back?
(युधिष्ठिर के दिमाग में क्या भय आया जब उनके भाई वापस नहीं आए?)
Ans: When Yudhishthira’s brothers did not come back he feared either (i) they have been subjected to a curse or they still are wandering in forest in search of water. (ii) they had fainted or died of thirst. (जब युधिष्ठिर के भाई वापस नहीं आए तो वे भयभीत हो गए कि (1) या तो उन्हें किसी ने श्राप दे दिया है या अब तक वे लोग पानी की तलाश में ही घूम रहे हैं । (ii) या तो वे बेहोश हो गए या प्यास के कारण मर गए । )
Q3: Why did Yudhishthira give up waiting for them?
(युधिष्ठिर ने उनका इंतजार करना क्यों छोड़ दिया?)
Ans: Yudhishthira gave up waiting for his brothers becuase he could not bear the fearful thoughts about them any longer.
(युधिष्ठिर ने भाइयों का इंतजार करना छोड़ दिया क्योंकि वे अपने भाइयों के बारे में आए भयानक विचारों को और आगे सहन न कर सके । )
Q4: What made Yudhishthira weep?
(युधिष्ठिर क्यों रोने लगे?)
Ans: When Yudhishthira saw his brothers lying like flagpoles, then he unable to restrain his grief, he lifted his voice and wept.
(जब युधिष्ठिर ने अपने भाइयों को निढाल पड़े देखा तो वे अपने दु:ख को रोक न सके । उनका गला रुंध गया और वे रोने लगे । )


[B] He touched the faces …………………… belongs to me.”
Vocabulary:
touched – छुए
faces- चेहरे
still and silent – बेजान से पड़े रहना
mourned – विलाप किया
Vows प्रतिज्ञाएँ
exile—वनवास
forsaken – बेसहारा छोड़ दिया
misfortune—संकट
mighty – शक्तिशाली
limbs—अंग
helpless असहाय, निढाल
wondered—–आश्चर्य हुआ
descended —उतरा
overpowering – तीव्र
warned—— आगाह, चेतावनी
heed —ध्यान
quench – बुझाना
belongs to me – मेरा है|

Up Board Class 10 English Solution Chapter -1 The Enchanted Pool


हिंदी अनुवाद– उन्होंने भीम व अर्जुन के चेहरों को छआ, जो बेजान से पड़े हुए थे, और विलाप करने लगे- “क्या हमारी समस्त प्रतिज्ञाओं का यही हश्र होना था? जब हमारा वनवास समाप्त होने वाला है, तुम लोगों को मुझसे छीन लिया गया । यहाँ तक कि देवताओं ने भी विपत्ति में मेरा साथ छोड़ दिया । ” जब उन्होंने अपने भाइयों के बलशाली अंग-प्रत्यंगों को देखा, जो अब असहाय थे तो दु:ख के साथ उन्हें आश्चर्य भी हुआ कि इतनी शक्ति किसमें है जो इन्हें मार सके । इसके बाद वे स्वयं सरोवर में उतरे क्योंकि प्यास के कारण पानी उन्हें अपनी ओर खींच रहा था । तुरंत ही एक अदृश्य आवाज ने चेतावनी देते हुए कहा- “तुम्हारे भाइयों ने मृत्यु का वरण कर लिया क्योंकि उन्होंने मेरी चेतावनी पर कोई ध्यान नहीं दिया था । मेरे प्रश्नों का उत्तर दिए बिना ही उन्होंने पानी पीना चाहा । उनका अनुसरण मत करो । पहले मेरे प्रश्नों का उत्तर दो और उसके बाद अपनी प्यास बुझाओ । यह सरोवर मेरा है । “


Q1: What had happened to Yudhishthira’s brothers?
(युधिष्ठिर के भाइयों को क्या हुआ था?)

Ans: Yudhisthira’s brothers had lain dead.
(युधिष्ठिर के भाई मृत पड़े हुए थे । )
Q2: What did Yudhishthira mourn?
(युधिष्ठिर दुःखित क्यों थे?)
Ans: Seeing his brothers lay still and silent, Yudhishthira mourned.
(अपने भाइयों को निढाल पड़े देखकर युधिष्ठिर दुःखित हुए । )
Q3: What did he wonder to see helpless mighty limbs of his brothers?
(अपने भाइयों के शक्तिशाली अंग-प्रत्यंगों को असहाय देखकर उसे क्या आश्चर्य हुआ?)
Ans: To see helpless mighty limbs of his brothers Yudhishthira wondered who could have been powerful enough to kill them.
(अपने भाइयों के शक्तिशाली अंग-प्रत्यंगों को असहाय देखकर युधिष्ठिर को आश्चर्य हुआ कि कौन इतना शक्तिशाली हो
सकता है जो उन्हें मार सके । )
Q4: What made Yudhishthira to descend into the pool?
(युधिष्ठिर को सरोवर की तरफ कौन खींच रहा था?)
Ans: Yudhishthira’s overpowering thirstmade him descend into the pool.
(युधिष्ठिर की तीव्र प्यास उसे सरोवर की ओर खींच रही थी । )
Q5: Whose voice was it that warned Yudhishthira?
(यह किसकी आवाज थी जिसने युधिष्ठिर को चेतावनी दी?)
Ans: The voice was of the owner of the pool, the Yaksha that warned Yudhishthira.
(आवाज सरोवर के मालिक यक्ष की थी जिसने युधिष्ठिर को चेतावनी दी । )


[C] It did not take…. .. .. .. .. .. .. .. .. .. . solitary journey after death.


Vocabulary:
moment – क्षण
guessed – अनुमान लगा लिया
possible way – उचित रास्ता
bodiless—शरीर रहित
rapidly तेजी से, बौछार
rescues—बचाता है
in danger – खतरे में
courage—-साहस
association – संगति
swifter—-शीघ्रगामी mind मन
faded——– मुरझाया हुआ
dried straw—- सूखा तिनका
stricken———–डूबा हुआ, घायल
traveller – यात्री
accompanies – साथ देना
solitary – अकेला


हिंदी अनुवाद- ——युधिष्ठिर को यह समझने में अधिक देर नहीं लगी कि यह आवाज किसी यक्ष की है और अनुमान लगा लिया कि उनके भाइयों के साथ क्या हुआ है । उनको यह समझने में पल भर का समय भी नहीं लगा कि भाइयों के शरीर में पुनः प्राण वापस कैसे लाए जा सकते हैं । उन्होंने अदृश्य आवाज से कहा- “कृपया अपने प्रश्न पूछिए । ” आवाज ने एक के बाद एक प्रश्नों की बौछार कर दी । “खतरे में मनुष्य को कौन बचाता है?’ “साहस’ “किस विज्ञान का अध्ययन मनुष्य को विवेकवान बनाता है?” “किसी शास्त्र के अध्ययन से मनुष्य विवेकवान नहीं बनता है । विवेकवान लोगों की संगति ही उसे विवेकवान बनाती है । ” यक्ष ने प्रश्न किया- “हवा से भी तेज चलने वाला क्या है?” “मन । ” “सूखी हुई घास से भी अधिक मुरझाया हुआ क्या है?” “दुःख में डूबा हुआ हृदय । ” “यात्री का मित्र कौन है?” “ज्ञान । ” “घर पर रहने वाले का साथी कौन है?” “पत्नी । ” “मृत्यु के समय कौन साथ देता है?” “धर्म । मृत्यु के बाद आगे की यात्रा में केवल यही आत्मा की एकांत यात्रा का साथी होता है । “


Q1: What did Yudhishthira understand in no time?
(युधिष्ठिर को क्या समझने में अधिक समय नहीं लगा?)
Ans: Yudhishthira understood in no time that these were the words of Yaksha.
(युधिष्ठिर को यह समझने में अधिक समय नहीं लगा कि ये शब्द यक्ष के हैं । )
Q2: What did Yudhishthira do to bring his brothers back to life?
(अपने भाइयों को पुनर्जीवित कराने के लिए युधिष्ठिर ने क्या किया?)
Ans: To bring his brothers back to life Yudhishthira became ready to answer the questions of Yaksha.
(अपने भाइयों को पुनर्जीवित कराने के लिए युधिष्ठिर यक्ष के प्रश्नों के उत्तर देने के लिए तैयार हो गए । )
Q3: What according to Yudhishthira rescues man in danger?
(युधिष्ठिर के अनुसार खतरे में इंसान को कौन बचाता है?) Ans: According to Yudhishthira courage rescues man in danger.
(युधिष्ठिर के अनुसार खतरे में इंसान को साहस बचाता है । )
Q4: What is swifter than the wind?
(हवा से भी तेज चलने वाला क्या है?)
Ans: Mind is swifter than the wind.
(हवा से भी तेज चलने वाला मन है । )
Q5: What is more faded than a dried straw?
(सूखी घास से भी अधिक मुरझाया हुआ क्या होता है?)
Ans: A sorrow-stricken heart is more faded than a dried straw.
(दुःख में डूबा हुआ हृदय सूखी घास से भी अधिक मुरझाया हुआ होता है । )
Q6: Who accompanies man in death?
(मृत्यु के समय कौन साथ देता है?)
Ans: Dharma accompanies man in death.
(मृत्यु के समय धर्म साथ देता है । )


[D] Which is the biggest vessel…… .. .. ……………………… is the greatest wonder.”
Vocabulary:

vessel – बर्तन
earth———पृथ्वी
contains ——————– रखती है
pride————-घमंड
yields ————– बढ़ता है
anger————-क्रोध
subject to sorrow – ———दु:ख का कारण
desire————इच्छा
greedy – लालची
wealthy——————-धनी
good conduct अच्छा व्यवहार
decisively सोच-समझकर, स्पष्ट रूप से
habits ——आदतें
four Vedas————–चार वेद (ऋग्वेद,सामवेद, यजुर्वेदव अथर्ववेद
lower class – निम्न जाति
wonder- ——–आश्चर्य
creatures – प्राणी
depart————जाते हुए, रवाना होना
Yama’s Kingdom – यमलोक
remain———–जीवित


हिंदी अनुवाद- “सबसे बड़ा बर्तन कौन-सा है?’ “पृथ्वी, जो अपने में सब कुछ सँजोए हुए है, सबसे बड़ा बर्तन है । ” “प्रसन्नता क्या है?’ “अच्छे आचरण का परिणाम ही प्रसन्नता है । ” “वह क्या है जिसको छोड़ देने से सबको स्नेह प्राप्त होता है?’ “घमंड । यदि मनुष्य घमंडी होना छोड़ दे तो उसे सबका स्नेह मिलने लगेगा । ‘ “किसका नाश होने से आनंद बढ़ता है, दु:ख नहीं?” “क्रोध, यदि हम क्रोधी होना छोड़ दें तो दुःख में फँसे नहीं रहेंगे । ” “वह क्या है, जिसको छोड़ने से मनुष्य धनवान बन जाता है?” “लालच । यदि इंसान लालची स्वभाव छोड़ दे तो वह धनवान बन जाएगा । ” “कोई वास्तविक ‘ब्राह्मण’ कैसे बनता है? क्या यह जन्म, अच्छा आचरण या ज्ञान है? स्पष्ट रूप से बताओ । ” “जन्म और ज्ञान से कोई ब्राह्मण नहीं बनता है, केवल अच्छा आचरण ही किसी को ब्राह्मण बनाता है । कोई मनुष्य कितना ही ज्ञानी क्यों न हो, वह तब तक ब्राह्मण नहीं बन सकता, जब तक कि वह दुर्गुणों को न छोड़ दे । यदि कोई मनुष्य चारों वेदों का ज्ञाता है लेकिन दुर्गुणी है तो वह निम्न जाति में गिना जाएगा । ” “संसार का सबसे बड़ा आश्चर्य क्या है?’ “प्रतिदिन मनुष्य प्राणियों को यमलोक जाते हुए देखते हैं, तब भी जो जीवित हैं वे अनंतकाल तक जीवित रहने की लालसा
रखते हैं । वास्तव में यही सबसे बड़ा आश्चर्य है । ” ।


Q1: What is the biggest vessel as told by Yudhishthira?
(युधिष्ठिर द्वारा बताया गया सबसे बड़ा बर्तन कौन-सा है?)
Ans: The earth is the biggest vessel as told by Yudhishthira.
(युधिष्ठिर द्वारा बताया गया सबसे बड़ा बर्तन पृथ्वी है । )
Q2: What is happiness?
(प्रसन्नता क्या है?) Ans: Happiness is the result of good conduct.
(अच्छे आचरण का परिणाम ही प्रसन्नता है । )
Q3: After giving up what, a man is loved by all ?
(क्या छोड़ने के बाद, मनुष्य को सबका स्नेह प्राप्त होता है?)
Ans: After giving up pride, a man is loved by all.
(घमंड छोड़ने के बाद, मनुष्य को सबका स्नेह प्राप्त होता है । )
Q4: By giving up what, a man becomes rich?
(क्या छोड़ने से, मनुष्य धनवान बन जाता है?)
Ans: By giving up greed, a man becomes rich.
(लालच छोड़ने से, मनुष्य धनवान बन जाता है । )
Q5: What is the loss which yields joy and not sorrow?
(किसका नाश होने से दु:ख के स्थान पर सुख प्राप्त होता है?)
Ans: Loss of anger yields joy and not sorrow.
(क्रोध का नाश होने से दु:ख के स्थान पर सुख प्राप्त होता है । )
Q6: What makes one a real Brahmana?
(कौन-सी वस्तु किसी व्यक्ति को वास्तविक ब्राह्मण बनाती है?)
Ans: Good conduct alone makes one a real Brahmana.
(अच्छा आचरण व्यक्ति को वास्तविक ब्राह्मण बनाता है । )
Q7: Whatis the greatest wonder in the world?
(संसार का सबसे बड़ा आश्चर्य क्या है?)
Ans: Everyday men see creatures depart to Yama’s kingdom; and yet those who remain want to live forever. This is the greatest wonder in the world.
(प्रतिदिन मनुष्य प्राणियों को यमलोक जाते हुए देखते हैं, फिर भी जो जीवित हैं वे अनंतकाल तक जीवित रहने की लालसा रखते हैं । यही संसार का सबसे बड़ा आश्चर्य है । )

[E] Thus, the Yaksha put…………………………… either of these two.”
Vocabulary
:
thus – इस प्रकार
revived—————–पुनर्जीवित करना
moment———————–क्षण
wished————————–इच्छा प्रकट की
cloud-complexioned – मेघवर्ण
lotus-eyed—————–कमल नयन संस्कृत अनुवाद कैसे करे बिल्कुल शुरू से
broad-chested – चौड़े सीने वाला
long-armed लंबी भुजाओं वाला
ebony tree——————- आबनूस (तेंदू) का वृक्ष
pleased – प्रसन्न हुआ
in preference to – के बजाय
strength—————-शक्ति
protection – सुरक्षा

हिंदी अनुवाद– इस प्रकार यक्ष ने अनेक प्रश्न किए और युधिष्ठिर ने उन सबका उत्तर दिया । अंत में यक्ष ने पूछा- “हे राजन्, तुम्हारे मृत भाइयों में से एक को पुनर्जीवित किया जा सकता है । तुम किसको जीवित देखना चाहते हो?” युधिष्ठिर ने एक पल के लिए सोचा और फिर इच्छा प्रकट की कि मेघ वर्ण, कमल नयन, चौड़े सीने व लंबी भुजाओं के स्वामी नकुल को जीवित कर दिया जाए, जो गिरे हुए तेंदू के वृक्ष-सा पड़ा है । ऐसा सुनकर यक्ष प्रसन्न हुआ और युधिष्ठिर से पूछा- “तुमने भीम के स्थान पर नकुल को ही क्यों जीवित करना चाहा, जिसमें सोलह हजार हाथियों का बल है? मैंने सुना है कि तुमको भीम ही सर्वाधिक प्रिय है । और अर्जुन को क्यों नहीं चुना, जिसके शस्त्र तुम्हारे रक्षा कवच हैं? मुझे बताओ कि इन दोनों के स्थान पर तुमने नकुल को ही क्यों चुना?


Q1: Did Yudhishthira answer the Yaksha’s questions satisfactorily?
(क्या युधिष्ठिर ने यक्ष के प्रश्नों के संतोषजनक ढंग से उत्तर दिए?)
Ans: Yes, Yudhishthira answered the Yaksha’s questions satisfactorily.
(हाँ, युधिष्ठिर ने यक्ष के प्रश्नों के संतोषजनक ढंग से उत्तर दिए । )
Q2: Which of his brothers did Yudhishthira choose to be alive?
(युधिष्ठिर ने अपने कौन-से भाई को जीवित करने के लिए चुना?)
Ans: Yudhishthira chose Nakula to be alive.
(युधिष्ठिर ने नकुल को जीवित करने के लिए चुना । )
Q3: What made the Yaksha pleased?
(यक्ष क्यों प्रसन्न हुआ?)
Ans: The Yaksha was pleased with the answer of Yudhishthira.
(यक्ष युधिष्ठिर के उत्तर सुनकर प्रसन्न हुआ । )
Q4: What did the Yaksha ask Yudhishthira about his choice to have Nakul alive?
(नकुल को जीवित करने के लिए चुनने पर यक्ष ने युधिष्ठिर से क्या पूछा?)
Ans: Yaksha asked Yudhishthira the reason why he chose Nakul to be alive.
(यक्ष ने युधिष्ठिर से कारण पूछा कि उसने नकुल को ही जीवित रखने के लिए क्यों चुना । )

[F] Yudhishthira replied…………………………………………… he disappeared.
Vocabulary
:
replied – उत्तर दिया
shield——————-सुरक्षा, ढाल
given up——— त्याग दिया जाए
ruined———–नष्ट, पतन
bereaved——- वंचित
even————–सही
impartiality – निष्पक्षता
embraced—————-गले लगाया
blessed – आशीर्वाद दिया
disappeared – गायब हो गया


हिंदी अनुवाद– युधिष्ठिर ने उत्तर दिया- “ हे यक्ष, केवल धर्म ही मनुष्य की ढाल है, भीम या अर्जुन नहीं । यदि ‘धर्म’ को छोड़ दिया जाए तो मनुष्य का पतन हो जाएगा । कुंती और माद्री मेरे पिता की दो पत्नियाँ थीं । मैं कुंती के पुत्र के रूप में जीवित हूँ, जिससे वे पुत्र से पूरी तरह वंचित नहीं हैं । ताकि न्याय का संतुलन बना रहे इसलिए मैंने माद्री के पुत्र में पुन: प्राण फूंकने के लिए कहा है । युधिष्ठिर की निष्पक्षता व न्यायभाव से यक्ष अत्यन्त प्रसन्न हुआ और उसने उनके सभी भाइयों के प्राण लौटा दिए । ये मृत्यु के देवता यमराज थे, जिन्होंने यक्ष रूप धारण किया था ताकि युधिष्ठिर से मिलकर उन्हें कसौटी पर परखा जा सके । उन्होंने युधिष्ठिर को गले से लगाकर आशीर्वाद दिया फिर वे अदृश्य हो गए ।


Q1: What is the shield of man according to Yudhishthira?
(युधिष्ठिर के अनुसार मनुष्य की ढाल क्या है?)
Ans: According to Yudhishthira, dharma is the shield of man.
(युधिष्ठिर के अनुसार धर्म मनुष्य की ढाल है । )
Q2: According to Yudhishthira how will a man be ruined?
(युधिष्ठिर के अनुसार मनुष्य का पतन कैसे हो जाएगा?)
Ans: According to Yudhishthira if dharma is given up, a man will be ruined.
(युधिष्ठिर के अनुसार यदि धर्म को छोड़ दिया जाए तो मनुष्य का पतन हो जाएगा । )
Q3: Who were the two wives of Yudhishthira’s father?
(युधिष्ठिर के पिता की दो पत्नियाँ कौन थीं?)
Ans: Kunti and Madri were the two wives ofYudhishthira’s father.
(युधिष्ठिर के पिता की दो पत्नियाँ कुंती तथा माद्री थीं । )
Q4: What reason did Yudhishthira give about his choice of Nakula to be alive?
(युधिष्ठिर ने नकुल को जीवित करने का क्या कारण बताया?)
Ans: Yudhishthira gave reason about his choice of Nakula to be alive that he wanted to follow his dharma by reviving Nakula, the son of Madri.
(युधिष्ठिर ने नकुल को जीवित कराने का कारण बताया कि वह माद्री के पुत्र नकुल को जीवित कराकर अपने धर्म का पालन करना चाहते थे । )
Q5: Who was the Yaksha actually?
(वास्तव में यक्ष कौन थे?)
Ans: The Yaksha actually was Yama, the Lord of Death.
(वास्तव में यक्ष मृत्यु के देवता, यम थे । )
Q6: How did the Yaksha reward Yudhishthira?
(यक्ष ने युधिष्ठिर को किस प्रकार पुरस्कृत किया?)
Ans: Yaksha was most pleased with Yudhishthira’s impartiality and all his brothers revived. (यक्ष युधिष्ठिर की निष्पक्षता से खुश हो गए और उसके सभी भाइयों को पुनर्जीवित कर दिया । )

1 thought on “Up Board Class 10 English Solution Chapter -1 The Enchanted Pool”

  1. Pingback: Up Board Class 10 English Chapter -3 THE GANGA FULL SOLUTION - UP Board INFO

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top