Up board social science class 10 chapter 29: देश की सीमाएँ एवं सुरक्षा-व्यवस्था

Up board social science class 10 chapter 29: देश की सीमाएँ एवं सुरक्षा-व्यवस्था

इकाई-2 (ख): देश की बाह्य एवं आंतरिक सुरक्षा
देश की सीमाएँ एवं सुरक्षा-व्यवस्था

लघुउत्तरीय प्रश्न
प्रश्न—1. भारत की उत्तरी-पश्चिमी सीमा का उल्लेख कीजिए।
उ०- उत्तरी-पश्चिमी सीमा- भारत की उत्तरी-पश्चिमी सीमा पर अफगानिस्तान और पाकिस्तान राष्ट्र स्थित हैं।
अफगानिस्तान हमारा मित्र राष्ट्र है। किन्तु पाकिस्तान से हमारे कभी भी अच्छे संबंध नहीं रहे। पाकिस्तान भारत पर तीन बार आक्रमण कर चुका है। आज भी वह कश्मीर का कुछ भाग दबाए हुए है जिसे ‘आजाद-कश्मीर’ के नाम से जाना जाता है। इसके अतिरिक्त, पाकिस्तान निरंतर आधुनिकतम युद्ध-सामग्री जुटाने में लगा रहता है। इस कारण इस सीमा पर भारत के
लिए खतरा बना रहता है।
प्रश्न—2. भारतीय सेना के कितने अंग हैं? उनके नाम लिखते हुए बताइए कि सशस्त्र सेनाओं का सर्वोच्च सेनापति कौन होता है?
उ०- भारतीय सेना के तीन अंग हैं- थल सेना, नौसेना और वायुसेना। भारतीय सशस्त्र सेना के तीनों अंगों का सर्वोच्च सेनापति भारत का राष्ट्रपति होता है। Up board social science class 10 chapter 29: देश की सीमाएँ एवं सुरक्षा-व्यवस्था
प्रश्न—3. भारतीय थल सेना का संक्षिप्त परिचय दीजिए।
उ०- भारतीय थल सेना- थल सेना भारतीय सेना का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। थल सेना की टुकड़ियाँ भारत के विविध क्षेत्रों की छावनियों में रहती हैं, परंतु इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है। थल सेना का सर्वोच्च अधिकारी थल सेनाध्यक्ष (जनरल) होता है। भारतीय थल सेना निम्नलिखित कमांडों में विभक्त है(i) पश्चिमी कमांड (ii) पूर्वी कमांड
(iii) उत्तरी कमांड (iv) दक्षिणी कमांड
(v) दक्षिणी-पश्चिमी कमांड
(vi) सेन्ट्रल कमांड प्रत्येक कमांड का सर्वोच्च अधिकारी ‘जनरल ऑफिसर कमांडिग इन चीफ’ होता है। थल सेना की निम्नलिखित प्रमुख शाखाएँ होती हैं
(i) इन्फेट्री कोर _ (ii) बख्तरबंद कोर (iii) तोपखाना रेजीमेंट (iv) इंजीनियरिंग कोर (v) सिग्नल कोर (vi) आर्मी सेना कोर (vii) आर्मी आर्डिनेंस कोर (viii) आर्मी मेडिकल कोर (ix) आर्मी डेंटल कोर (x) इलेक्ट्रिकल और मैकेनिकल कोर (xi) सेना शिक्षा कोर। भारत की थल सेना टैंकों, दूरमारक तोपों, विमानभेदी मिसाइलों तथा अन्य आधुनिकतम अस्त्र-शस्त्रों से सुसज्जित है। प्रश्न—4. भारत की सुरक्षा तैयारी पर एक नोट लिखिए। उ०- भारतीय सुरक्षा तैयारियाँ- भारत ने सामरिक सुरक्षा की दृष्टि से अपने प्रतिरक्षा तंत्र को सुदृढ़ बनाया है। उत्तरी-पश्चिमी तथा चीन की ओर से सीमा पर बढ़ती घुसपैठ की घटनाओं ने उसे अपनी सीमाओं की सुरक्षा-व्यवस्था को सुदृढ़ करने का अवसर दिया है। पाकिस्तान तथा चीन परमाणु शस्त्रों का भंडार एकत्र कर भारत को चुनौतियाँ दे रहे हैं। इसलिए भारत अपनी सुरक्षा-व्यवस्था के प्रति पूर्ण सजग है। भारत की सुरक्षा तैयारियों की झलक निम्नवत् प्रस्तुत की जा सकती है(i) सुरक्षा की राष्ट्रीय भावना का विकास। (ii) आर्थिक और औद्योगिक विकास पर बल। (iii) खाद्यान्न उत्पादन में आत्मनिर्भरता।
__ (iv) रक्षा सामग्री के उत्पादन में निपुणता। (v) रक्षा अनुसंधान और विकास कार्यों को बढ़ावा। (vi) सेना के प्रशिक्षण की समुचित व्यवस्था। (vii) सैन्य आधुनिकीकरण पर बल। (viii) नागरिक सुरक्षा-प्रशिक्षण की व्यवस्था। (ix) परमाणु शक्ति का विकास। Up board social science class 10 chapter 27: पड़ोसी देशों से भारत के संबंध तथा दक्षेश


विस्तृत उत्तरीय प्रश्न : Up board social science class 10 chapter 29: देश की सीमाएँ एवं सुरक्षा-व्यवस्था
प्रश्न—1. भारतीय सेना के तीनों अंगों का विस्तृत वर्णन कीजिए।
उ०- (i) थल सेना- इसके लिए लघु उत्तरीय प्रश्न संख्या-3 के उत्तर का अवलोकन कीजिए।
(ii) नौसेना- भारत के सामुद्रिक बेड़े को नौसेना कहा जाता है। भारतीय नौसेना के जवान सागर के सीने पर तैरकर भारतीय रक्षा तंत्र को सुदृढ़ बनाते हैं। नौसेना का सर्वोच्च अधिकारी नौसेनाध्यक्ष (एडमिरल) कहलाता है। भारतीय नौसेना का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। भारतीय नौसेना निम्नलिखित दो बेड़ों में विभक्त है
i) पूर्वी बेड़ा
(ii) पश्चिमी बेड़ा
भारतीय नौसेना निम्नलिखित तीन कमानों में विभक्त है
(i) पूर्वी नौसेना कमान कार्यालय = विशाखापट्टनम्
(ii) पश्चिमी नौसेना कमान = कार्यालय = मुंबई
(iii) दक्षिणी नौसेना कमान =
कार्य प्रत्येक नौसेना कमान का सर्वोच्च अधिकारी ‘फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ’ होता है। भारतीय नौसेना आधुनिकतम युद्धपोतों और परमाणु पनडुब्बियों से सुसज्जित है।
(iii) वायु सेना- जल, थल और आकाश में सुरक्षा व्यवस्था सँभालने वाला भारतीय सेना का तीसरा महत्वपूर्ण अंग वायु
सेना है। वर्तमान परिपेक्ष्य में वायु सेना युद्ध का सबसे महत्वपूर्ण साधन बन गई है। वायु सेना के बमवर्षक विमान जल, थल तथा आकाश में बम वर्षा कर युद्ध के रुख को मोड़ने की क्षमता रखते हैं। भारत के पास आधुनिकतम, प्रशिक्षित
भारतीय सेना युद्धपोतों, वायुयानों, मिसाइलों तथा परमाणु पनडुब्बियों से संपन्न बनकर आधुनिकीकरण का चोला धारण
कर चुकी है। उसका यह स्वरूप भारतीय सुरक्षा-व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के लिए पर्याप्त है।
(viii) नागरिक सुरक्षा-प्रशिक्षण की व्यवस्था- भारत ने आपातकालीन परिस्थितियों से निबटने के लिए, आवश्यकता
पड़ने पर देश के नागरिकों को सुरक्षा व्यवस्था में भागीदारी करने के योग्य बनाने के लिए नागरिक सुरक्षा-प्रशिक्षण की
व्यवस्था करके भारतीय सुरक्षा व्यवस्था को पूरी तरह मजबूत बना लिया है।
प्रश्न—3. भारतीय सैन्य संगठन का विस्तृत विवरण लिखिए।
उ०- भारतीय सैन्य संगठन- भारत सरकार देश के सभी क्षेत्रों की सुरक्षा की समुचित व्यवस्था करती है। भारत के राष्ट्रपति को सेना के तीनों अंगों का सुप्रीम कमांडर (सर्वोच्च सेनापति) बनाया गया है। उसी के हाथों में तीनों सेनाओं की कमान रहती है। देश की सुरक्षा के लिए समुचित कार्यप्रणाली एवं कूटनीति तैयार करने का भार भारतीय रक्षा मंत्रालय को सौंपा गया है। रक्षा मंत्रालय का प्रमुख रक्षामंत्री होता है। 1962 ई० में सरकार ने रक्षा उत्पादन विभाग बनाया तथा बाद में रक्षा वितरण विभाग को भी उसी के साथ जोड़ दिया गया। सरकार ने 1980 ई० में रक्षा शोध एवं विकास विभाग की स्थापना कर सेना सुरक्षा व्यवस्था का आधुनिकीकरण कर दिया। रक्षा सचिव, भारतीय रक्षा विभाग का मुख्य अधिकारी होता है। भारतीय सेना- सेना किसी भी राष्ट्र की सुरक्षा की धुरी होती है। भारत ने एक शक्ति-संपन्न तथा नवीनतम अस्त्र-शस्त्रों से सुसज्जित विशाल सेना का गठन किया है। भारत की सेना आई.एन.ए. (भारतीय राष्ट्रीय सेना) कही जाती है। जैसे हमारा राष्ट्रध्वज तीन रंगों की छटा बिखेरता है, वैसे ही हमारी सेना धरती, सागर और आकाश में सुरक्षा की आभा बिखेरती है। भारतीय सेना के तीन अंग हैं। भारतीय सेना के तीनों अंगों का सेनापति भारत का राष्ट्रपति होता है। भारतीय सेना के तीन अंग निम्नलिखित हैं(i) थल सेना- इसके लिए लघु उत्तरीय प्रश्न संख्या-3 के उत्तर का अवलोकन कीजिए।
(ii) नौ सेना- इसके लिए विस्तृत उत्तरीय प्रश्न संख्या- 1 के उत्तर का अवलोकन कीजिए।
(iii) वायु सेना- इसके लिए विस्तृत उत्तरीय प्रश्न संख्या- 1 के उत्तर का अवलोकन कीजिए।

4. भारत की वायु सेना का विस्तृत विवरण दीजिए।
उ०- इसके लिए विस्तृत उत्तरीय प्रश्न संख्या- 1 के उत्तर का अवलोकन कीजिए ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top