All Sanskrit grammar part – 3 सम्पूर्ण संस्कृत व्याकरण अच् संधि (स्वर संधि ) वृद्धि संधि

All Sanskrit grammar part – 3 सम्पूर्ण संस्कृत व्याकरण अच् संधि (स्वर संधि ) वृद्धि संधि

वृद्धिरेचि

परिभाषा – यदि अ या आ के बाद ए या ऐ आए तो दोनों को मिलाकर वृद्धि एकादेश ऐ हो जाता है। इसी प्रकार अ या आ के बाद ओ या औ आए तो औ वृद्धि एकादेश हो जाता है।

अ,आ +ए, ऐ= ऐ

अद्यैव = अद्य + एव = अ+ ए = ऐ

देवैश्वर्यम् =देव+-ऐश्वर्यम् = अ + ऐ= ऐ

तथैव=तथा + एव = आ + ए = ऐ

विश्व + एकता = विश्वैकता
तत्र + एव = तत्रैव
अघ + एव = अघैव
एक + एक = एकैक
प्रिय + एषी = प्रियैषी

धन + एषी = धनैषी
लोक + एषणा = लोकैषणा
पुत्र + एषणा = पुत्रैषणा
धन + एषणा = धनैषणा
मत + एकता = मतैकता
वित्त + एषणा = वित्तैषणा


हित + एषी = हितैषी
शुभ + एषी = शुभैषी
दिन + एक = दिनैक

विद्यैश्वर्यम् = विद्या + ऐश्वर्यम् = आ + ऐ = ऐ

स्व + ऐच्छिक = स्वैच्छिक

धर्म + ऐक्य = धर्मैक्य

लोक + ऐश्वर्य = लोकैश्वर्य

नव + ऐश्वर्य = नवैश्वर्य

विचार + ऐक्य = विचारैक्य

भाव + ऐक्य = भावैक्य

लोक + ऐक्य = लोकैक्य

धन + ऐश्वर्य = धनैश्वर्य

देव + ऐश्वर्य = देवैश्वर्य

जन + ऐश्वर्य = जनैश्वर्य

मत + ऐक्य = मतैक्य

विश्व + ऐक्य = विश्वैक्य

ज्ञान + ऐक्य = ज्ञानैक्य

धन + ऐक्य = धनैक्य

अ, आ + ओ ,औ = औ

तण्डुलौदनम् = तण्डुल + ओदनम् = अ +ओ = औ

  • महा + औषधि: = महौषधिः
  • देव + औदार्य = देवौदार्य
  • दिव्य + औषधि = दिव्यौषधि
  • परम + औत्सुक्य = परमौत्सुक्य
  • पूर्व + औपनिवेशिक = पूर्वौपनिवेशिक
  • तप + औदार्य = तपौदार्य
  • वन +औषध = वनौषध
    परम + औषध = परमौषध
    वीर + औदार्य = वीरौदार्य

  • मिलन + औचित्य = मिलनौचित्य
    ज्ञान + औषधि = ज्ञानौषधि
    मंत्र + औषधि = मंत्रौषधि

  • जल + औषधि = जलौषधि
    प्र + औधोगिकी = प्रौधोगिकी
    परम + औपचारिक = परमौपचारिक

  • परम + औदार्य = परमौदार्य
    अत्यंत + औदार्य =अत्यन्तौदार्य
    भाव + औचित्य = भावौदार्य
  • महा + औषधि = महौषधि
  • वृथा + औदार्य = वृथौदार्य
  • महा + औत्सुक्य = महौत्सुक्य
  • महा + औदार्य = महौदार्य
  • यथा + औचित्य = यथौचित्य
  • मृदा + औषधि = मृदौषधि

देवौदार्यम् = देव + औदार्यम् • = अ+औ= औ

महौषधम् = महा + ओषधम् =

• अद्यैव शब्द का स्पष्टीकरण

अद्य +एव = अद्यैव। इस विग्रह में अद्य के य में स्थित अ के बाद एव का ‘ए’ आने के कारण अ + ए दोनों मिलाकर ऐ वृद्धि एकादेश होकर बना ।

Leave a Comment

%d bloggers like this: