Vidwan shabd roop in sanskrit विद्वस् शब्द के रूप

Vidwan shabd roop in sanskrit विद्वस् शब्द के रूप Vidwan shabd roop in sanskrit विद्वस् शब्द के रूप What is Shabd Roop of vidwan ? Know below (शब्द रूप) shabd roop of vidwan in sanskrit grammar. विद्वस् (विद्वान) ke Pulling shabd roop kya Hain. विद्वस् (विद्वान) शब्द रूप पुल्लिंग विद्वस् शब्द के रूप:- विद्वस् शब्द … Read more

Rajan Shabd Roop in Sanskrit राजन् शब्द के रूप

Rajan Shabd Roop in Sanskrit राजन् शब्द के रूप राजन् शब्द के रूप | Rajan Shabd Roop in Sanskrit What is Shabd Roop of Rajan? Know below (शब्द रूप) shabd roop of rajan in sanskrit grammar. राजा (राजन्) ke Pulling shabd roop kya Hain. राजन् शब्द रूप पुल्लिंग राजन् शब्द के रूप:- राजन् शब्द का … Read more

Atman Shabd Roop in Sanskrit आत्मन् शब्द के रूप

Atman Shabd Roop in Sanskrit आत्मन् शब्द के रूप आत्मन् शब्द के रूप | Atman Shabd Roop in Sanskrit What is Shabd Roop of Atma? Know below (शब्द रूप) shabd roop of atma in sanskrit grammar. आत्मा (आत्मन्) ke Pulling shabd roop kya Hain. आत्मन् शब्द रूप पुल्लिंग आत्मन् शब्द के रूप:- आत्मन् शब्द का … Read more

Tad shabd roop in sanskrit napunsakling तद् नपुंसकलिंग शब्द रूप

Tad shabd roop in sanskrit napunsakling तद् नपुंसकलिंग शब्द रूप तद् पुल्लिंग शब्द रूप:-  तद् (वह) पुल्लिंग एक सर्वनाम संज्ञा है। यद्, तद्, एतद्, और किम् यह सभी शब्द क्रमशः य:, स:, एष:, स्य: और क: के साथ लिखे जाते है और इसके अलावा सर्व् आदि तुल्य रूप भी इसी तरह चलते हैं और तद् … Read more

Tad striling shabd roop in sanskrit तद् स्त्रीलिंग शब्द रूप

Tad striling shabd roop in sanskrit तद् स्त्रीलिंग शब्द रूप तद् स्त्रीलिंग शब्द रूप:-  तद् (वह) स्त्रीलिंग एक सर्वनाम संज्ञा है। यद्, तद्, एतद्, और किम् यह सभी शब्द क्रमशः य:, स:, एष:, स्य: और क: के साथ लिखे जाते है और इसके अलावा सर्व् आदि तुल्य रूप भी इसी तरह चलते हैं और तद् … Read more

tad pulling shabd roop in sanskrit तद् पुल्लिंग शब्द रूप

tad pulling shabd roop in sanskrit तद् पुल्लिंग शब्द रूप तद् पुल्लिंग शब्द रूप:-  तद् (वह) पुल्लिंग एक सर्वनाम संज्ञा है। यद्, तद्, एतद्, और किम् यह सभी शब्द क्रमशः य:, स:, एष:, स्य: और क: के साथ लिखे जाते है और इसके अलावा सर्व् आदि तुल्य रूप भी इसी तरह चलते हैं और तद् … Read more

Naitik Shiksha essay in sanskrit नैतिक शिक्षा पर संस्कृत में निबंध

Naitik Shiksha essay in sanskrit नैतिक शिक्षा पर संस्कृत में निबंध नैतिकशिक्षाया: महत्त्वम् ”शिक्ष” ‘विद्योपादाने’ इति व्युत्पत्त्या शिक्षाशब्दस्य अर्थः विद्यार्जनम् एव किन्तु केवलानि पुस्तकानि कण्ठस्थीकृत्य उपाधिं प्राप्य जीविकोपार्जनम् एव शिक्षा नास्ति जीवने सत्यम्, अहिंसा, विनम्रतानियमसाहसप्रभृतीनाम् उच्चादर्शाणाम् सम्यक् समावेशनम् एव शिक्षाया: उद्देश्यं भवति । यया शिक्षया एतादृशाणां सद्गुणानां विकास: भवति सा नैतिक शिक्षेति उच्यते । नैतिक … Read more

Application for Fee Concession in Sanskrit शुल्क मुक्ति के लिए प्रार्थना पत्र संस्कृत में

Application for Fee Concession in Sanskrit शुल्क मुक्ति के लिए प्रार्थना पत्र संस्कृत में संस्कृत भाषा संसार की सबसे प्राचीन भाषा है।। संस्कृत ऐतिहासिकता की दृष्टि से संसार की सभी भाषाओं की जननी है। संसार के सभी प्राचीन ऋषियों व पूर्वजों की मातृ भाषा संस्कृत थी | यह भाषा भारत कि नहीं अपितु विश्व की … Read more

Write a Letter to a Publisher Ordering Some Books पुस्तक भेजने के लिए प्रकाशक को पत्र

Write a Letter to a Publisher Ordering Some Books पुस्तक भेजने के लिए प्रकाशक को पत्र पुस्तकानि प्रेषयितुं प्रकाशकं प्रति पत्रम् सेवायाम्व्यवस्थापक महोदया:आर्य बुक डिपोकरोलबागनव दिल्ली महोदय / महोदया, सेवायाम् निवेदनमस्ति यत् अहम् अधोलिखितानि पुस्तकानि क्रेतुम् इच्छामि। अत: यत् समुचितमुन्मोक (कमीशन) निष्कास्य एतानि पुस्तकानि वी.पी. माध्यमेन प्रेषयन्तु भवन्तः। शीघ्रता प्रशंसनीया स्यात् । पुस्तकानां नामानि————–लेखकानां नामानि——- … Read more

A letter to your father requesting money in Sanskrit पिता के लिए संस्कृत में पत्र

A letter to your father requesting money in Sanskrit पिता के लिए संस्कृत में पत्र पितरौ प्रति परीक्षाया: परिणामसूचकं पत्रम् छात्रावास:केन्द्रीय विद्यालय: देहलीछावनीत: नव- दिल्ली वन्दनीया: पितृचरणा: सादरं प्रणम्यते यदहम् अत्र सम्यक् निवसामि । मम परीक्षाफलम् अधुना प्रकाशितम्। नवमकक्षायाम् अहम् प्रथमश्रेण्याम् उत्तीर्णः । सर्वेषु छात्रेषु मम प्रथमं स्थानमस्ति। अधुना कानिचित् पुस्तकानि क्रेतव्यानि सन्ति । विद्यालयस्य … Read more