Ncert Solution For Class 8 hindi Vasant Chapter 14 अकबरी लोटा

Ncert Solution For Class 8 hindi Vasant Chapter 12 sudama charit

Ncert Solution For Class 8 hindi Vasant Chapter 14 अकबरी लोटा

Chapter-14 अकबरी लोटा


प्रश्न 1- “लाला ने लोटा ले लिया, बोले कुछ नहीं, अपनी पत्नी का अदब मानते थे । “
लाला झाऊलाल को बेढंगा लोटा बिलकुल पसंद नहीं था । फिर भी उन्होंने चुपचाप लोटा ले लिया । आपके विचार से वे चुप क्यों रहे? अपने विचार लिखिए ।

उत्तर:- लाला झाऊलाल को बेढंगा लोटा बिलकुल पसंद नहीं था । फिर भी उन्होंने चुपचाप लोटा ले लिया क्योंकि वे अपनी पत्नी का अदब मानते थे । दूसरा वे पत्नी के तेज-तर्रार स्वभाव से भी अवगत थे उन्होंने सोचा कि अभी तो लोटे में पानी मिला है यदि चूँ कर दू तो कहीं बाल्टी में भोजन ना करना पड़े ।

प्रश्न 2 -लाला झाऊलाल जी ने फौरन दो और दो जोड़कर स्थिति को समझ लिया । “
आपके विचार से लाला झाऊलाल ने कौन-कौन सी बातें समझ ली होंगी?

उत्तर:- लाला झाऊलाल एक चतुर व्यक्ति थे । लोटा गिरने पर एक भारी भीड़ उनके आँगन में घुस आई । एक अंग्रेज को भी हुए तथा पैर सहलाते हुए देखकर वे समझ गए कि स्थिति गंभीर है और इस समय उनका चुप रहना ही ठीक है ।

प्रश्न 3- अंग्रेज़ के सामने बिलवासी जी ने झाऊलाल को पहचानने तक से क्यों इनकार कर दिया था ? आपके विचार से बिलवासी जी ऐसा अजीब व्यवहार क्यों कर थे? स्पष्ट कीजिए ।


उत्तर:- परिस्थिति देखकर बिलवासी जी के दिमाग में लाला झाऊलाल की समस्या को हल करने का उपाए आया । इसी कारण बिलवासी जी ने ऐसा अजीब व्यवहार किया ताकि पुलिस थाने की ओर ध्यान हटाकर अपनी योजना कामयाब हो सके ।

प्रश्न 4- बिलवासी जी ने रुपयों का प्रबंध कहाँ से किया था? लिखिए ।

उत्तर:- बिलवासीजी ने रुपयों का प्रबंध अपने ही घर से अपनी पत्नी के संदूक से चोरी कर किया था ।

प्रश्न 5- आपके विचार से अंग्रेज ने यह पुराना लोटा क्यों खरीद लिया? आपस में चर्चा करके वास्तविक कारण की खोज कीजिए और लिखिए ।

उत्तर:- अंग्रेज़ को पुरानी ऐतिहासिक चीजें इकट्ठा करने का शौक था । ऐसा इसलिए कह सकते है क्योंकि दुकान से पुरानी पीतल की मूर्तियाँ खरीद रहा था । अंग्रेज़ ने बिलवासी के कहने पर लोटा, अकबरी लोटा समझकर 500 रूपए में खरीदा ।

प्रश्न 6- “इस भेद को मेरे सिवाए मेरा ईश्वर ही जानता है । आप उसी से पूछ लीजिए । मैं नहीं बताऊँगा । ” बिलवासी जी ने यह बात किससे और क्यों कही? लिखिए ।

उत्तर:- ‘बिलवासी’ जी ने यह बात ‘लाला झाऊलाल’ से कही क्योंकि बिलवासीजी ने रुपयों का प्रबंध अपने ही घर से अ पत्नी के संदूक से चोरी कर किया था इस रहस्य को वह’ झाऊलाल’ के सामने खोलना नहीं चाहते थे ।

प्रश्न 7- “उस दिन रात्रि में बिलवासी जी को देर तक नींद नहीं आई । “
समस्या झाऊलाल की थी और नींद बिलवासी की उड़ी तो क्यों? लिखिए ।

उत्तर:- झाऊलाल के लिए बिलवासीजी ने अपनी पत्नी के संदूक से पैसे चोरी किए थे अब वे अपनी पत्नी के सोने की प्रतीक्षा में थे ताकि वह पैसे चुप-चाप संदूक में रख दे । इसलिए समस्या झाऊलाल की थी और नींद बिलवासी की उडी थी ।

Ncert Solution For Class 8 hindi Vasant Chapter 14 अकबरी लोटा

प्रश्न 8- लेकिन मुझे इसी जिंदगी में चाहिए । ” “अजी इसी सप्ताह में ले लेना । “
“सप्ताह से आपका तात्यर्य सात दिन से है या सात वर्ष से?”
झाऊलाल और उनकी पत्नी के बीच की इस बातचीत से क्या पता चलता है लिखिए ।

उत्तर:- झाऊलाल और उनकी पत्नी के बीच की इस बातचीत से निम्न बातें उजागर होती हैं –

1- झाऊलाल की पत्नी को अपने पति झाऊलाल के वादे पर भरोसा नहीं था ।
2- उनकी पत्नी ने पहले भी कुछ माँगा होगा परन्तु उन्होंने हाँ करने के बाद भी लाकर नहीं दिया होगा ।
3- झाऊलाल कंजूस प्रवृत्ति के हैं ।

प्रश्न 9- क्या होता यदि अंग्रेज़ लोटा न खरीदता?
उत्तर:- यदि अंग्रेज़ लोटा नहीं खरीदता तो बिलवासी जी को अपनी पत्नी से चुराए हुए रूपए लाला झाऊलाल को देने पड़ते । अन्यथा झाऊलाल अपनी पत्नी को पैसे नहीं दे पाते और अपनी पत्नी के सामने बेइज्जत होते

प्रश्न 10- क्या होता यदि
यदि अंग्रेज़ पुलिस को बुला लेता ?

उत्तर:- यदि अंग्रेज़ पुलिस को बुला लेता तो सम्भवत: लाला झाऊलाल को गिरफ्तार कर लिया जाता या उन्हें जुर्माना देना पड़ता ।

प्रश्न 11- क्या होता यदि जब बिलवासी अपनी पत्नी के गले से चाबी निकाल रहे थे, तभी उनकी पत्नी जाग जाती?

उत्तर:- गले से चाबी निकालते समय यदि बिलवासी जी की पत्नी जग जाती तो चोरी जैसा घिनौना काम करने पर उन्हें अपनी पत्नी के समक्ष शर्मिंदा होना पड़ता ।

प्रश्न 12- बिलवासी जी ने जिस तरीके से रुपयों का प्रबंध किया, वह सही था या गलत?

उत्तर:- बिलवासी जी ने जिस तरीके से रुपयों का प्रबंध किया, वह गलत था । अपनी स्वार्थ सिद्धि के लिए किसी को उल्लू नहीं बनाना चाहिए ।

13- भाषा की बात

इस कहानी में लेखक ने जगह-जगह पर सीधी-सी बात कहने के बदले रोचक मुहावरों, उदाहरणों आदि के द्वारा कहकर अपनी बात को और अधिक मजेदार / रोचक बना दिया है । कहानी से वे वाक्य चुनकर लिखिए जो आपको सबसे अधिक मजेदार लगे ।

उत्तर:-

1- अब तक बिलवासी जी को वे अपनी आँखो से खा चुके होते ।
2- कुछ ऐसी गढ़न उस लोटे की थी कि उसका बाप डमरू, माँ चिलम रही हो ।
3- ढाई सौ रूपए तो एक साथ आँख सेंकने के लिए भी न मिलते हैं ।

14- इस कहानी में लेखक ने अनेक मुहावरों का प्रयोग किया है । कहानी में से पाँच मुहावरे चुनकर उनका प्रयोग करते हुए वाक्य लिखिए ।

उत्तर:-
1- चैन की नींद सोना – (निश्चिंत सोना)
कुख्यात चोर के पकड़े जाने पर पुलिस चैन की नींद सोई ।

2- आँखों से खा जाना – ( क्रोधित होना)
परीक्षा में कम अंक आने पर माँ ने पुत्र को ऐसे देखा मानो आँखों से ही खा जाएगी ।

3- आँख सेंकने के लिए भी न मिलना – (दुर्लभ होना)
हस्तकला से बनी वस्तुए तो आजकल आँख सेंकने के लिए भी नही मिलती ।

WWW.UPBOARDINFO.IN

Up pre board exam 2022: जानिए कब से हो सकते हैं यूपी प्री बोर्ड एग्जाम

Amazon से शॉपिंग करें और ढेर सारी बचत करें CLICK HERE

सरकारी कर्मचारी अपनी सेलरी स्लिप डाउनलोड करें

Hindi to sanskrit translation | हिन्दी से संस्कृत अनुवाद 500 उदाहरण

संस्कृत अनुवाद कैसे करें – संस्कृत अनुवाद की सरलतम विधि – sanskrit anuvad ke niyam-1

Leave a Comment

%d bloggers like this: