UP Board Solutions for Class 11 English Prose Chapter 7 On an African River पाठ का हिंदी अनुवाद free pdf

UP Board Solutions for Class 11 English Prose Chapter 7 On an African River पाठ का हिंदी अनुवाद free pdf

UP Board Solutions for Class 11 English Prose Chapter 7 On an African River पाठ का हिंदी अनुवाद free pdf
UP Board Solutions for Class 11 English Prose Chapter 7 On an African River पाठ का हिंदी अनुवाद free pdf

On an African River पाठ का हिंदी अनुवाद

11 नवम्बर सन् 1853 को मैं नाव लेकर चोब नदी में उतरा, जो जाम्बेसी नदी में मिल जाती है ।। हमारे प्रमुख यह देखने नदी किनारे आए कि विदा होने के समय सब कुछ ठीक-ठाक है ।। यहाँ तक कि उन्होंने अपनी डोंगी भी मुझे कार्य के लिए दे दी, और जैसे कि यह नाव मेरे द्वारा अतीत में प्रयोग की गई नावों से अधिक चौड़ी थी, मैं इसमें बैठकर आसानी से किसी भी ओर घूम सकता था ।।

UP Board Solutions for Class 11 English Prose Chapter 6 A Dialogue on Civilization free pdf सम्पूर्ण पाठ का अनुवाद


बड़ी संख्या में दरियाई घोड़ों के झुंड चोब नदी में विचरते हैं ।। इनमें से कुछ ऐसे अधेड़ नर दरियाई घोड़े होते हैं जिन्हें झुण्ड से खदेड़ दिया गया है, और जो अपने स्वभाव में चिड़चिड़े हो जाते हैं और इस चिड़चिड़ेपन में वे उन सभी डोंगियों पर आक्रमण कर देते हैं जो उनके समीप से गुजरती है ।। झुण्ड के दरियाई घोड़े कभी भी आक्रामक नहीं होते हैं, वे तभी आक्रामक होते हैं जब कोई डोंगी झुण्ड के बीच से रास्ता बनाती हुई जाती है जब वे सब सो रहे हों ।। ऐसे अवसर पर उनमें से कुछ भयवश डोंगी पर हमला कर सकते हैं ।। इससे बचाव करने के लिए भ्रमणकर्ता को सलाह दी जाती है कि दिन के समय नाव को सदैव नदी के किनारे की ओर चलाएँ तथा रात्रि के समय जलधारा के बीच में चलाएँ ।।

सामान्यतः मानव को देखकर दरियाई घोड़े भाग जाते हैं ।। झुण्ड से दूर खदेड़ दिए गए नर हाथी की तरह ही अकेले रह गए नर दरियाई घोड़े काफी खतरनाक होते हैं ।। ऐसे ही समय हम एक डोंगी में सवार होकर आए जिसको उन दरियाई घोड़ों में से एक ने अपने पिछले पैर की टक्कर से टुकड़े-टुकड़े कर चकनाचूर कर दिया ।।

UP Board Solutions for Class 11 English Prose Chapter 6 A Dialogue on Civilization free pdf सम्पूर्ण पाठ का अनुवाद

UP Board Solutions for Class 11 Samanya Hindi काव्यांजलि Chapter 5 स्वयंवर-कथा, विश्वामित्र और जनक की भेंट (केशवदास) free pdf

मुझे अपने आदमियों से पता चला था कि यदि हमारी डोंगी पर हमला किया जाता है तो उस स्थिति में हमें नदी की तलहटी में गोता लगा जाना चाहिए और वहाँ कुछ सेकण्डों तक यूँ ही रुके रहना चाहिए ।। ऐसा होता है कि डोंगी को नुकसान पहुंचाने के बाद दरियाई घोड़ा सदैव ही आदमियों की तलाश सतह पर करता है, और वहाँ किसी को न पाकर वहाँ से शीघ्र ही चला जाता है ।। इन ‘कुँवारों’, झुण्ड से भगा दिए गए दरियाई घोड़ों को प्रायः इसी नाम से पुकारा जाता है, में से एक वास्तव में अपनी माँद से बाहर आया और सिर को नीचे की ओर कर तेज रफ्तार से हमारे उन आदमियों के पीछे भागा जो वहाँ से गुजर रहे थे ।।

UP Board Solutions for Class 11 English Short Story Chapter 1 Pen Pal पाठ का हिंदी अनुवाद free pdf

झुण्ड में मौजूद दरियाई घोड़ों की संख्या कोई नहीं बता सकता है क्योंकि उनमें से अधिकांश हमेशा ही पानी के नीचे छिपे रहते हैं ।। लेकिन सांस लेने के लिए उन्हें कुछ मिनटों बाद सतह के ऊपर आना पड़ता है ।। यदि झुण्ड के सदस्य सदैव सतह पर आते दिखाई पड़ते रहे तो माना जाता है कि झुण्ड में बड़ी संख्या में दरियाई घोड़े शामिल हैं ।।

दरियाई घोड़े के बच्चे जब काफी छोटे होते हैं तो वे अपनी माँ की गर्दन पर खड़े हो जाते हैं और छोटा सिर बड़े सिर से पहले ही सतह पर आ जाता है ।। माँ इस तथ्य को जानती है कि उसका बच्चा अधिक समय तक पानी के भीतर नहीं रह पाएगा, इसलिए जब देखभाल का दायित्व उसके ऊपर होता है तो वह प्रायः ही सतह पर आती रहती है ।।

इस नदी में मगरमच्छों की संख्या काफी अधिक है और वे अधिक जंगली अर्थात आक्रामक हैं ।। प्रत्येक वर्ष अनेक बच्चे उनका शिकार हो जाते हैं क्योंकि खतरे के बावजूद जब ये बच्चे पानी के नीचे उतरते हैं तो वहाँ रुककर खेलने लगते हैं ।। अनेक बछड़े भी अपने प्राण गवाँ चुके हैं और ऐसा शायद ही होता हो कि कोई गाय अपने को छुड़ाकर ऊपर सतह पर आ पाए ।। स्थानीय लोगों का कहना है कि मगरमच्छ शिकार पर अपनी पूँछ से वार करता है, और खींचता हैं और पानी में डुबो देता है ।। जब मगरमच्छ शिकार की तलाश में पानी पर लेटा होता है तो उसका शरीर दिखाई नहीं देता है ।। Up Board Class 12th Civics Chapter 3 Liberty and Equality स्वतन्त्रता एवं समानता

जब मैं इन जलधाराओं से होकर जाते हुए अपने आदमियों को देखता हूँ तो अपनी कँपकँपी को रोक नहीं पाता हूँ क्योंकि मैंने एक बार एक बेचारे आदमी को इस जानवर द्वारा पकड़कर नीचे पानी में ले जाते हुए देखा था ।। उस आदमी ने बुद्धिमानी दिखाई, और ऐसा प्रायः यहाँ के निवासी मुसीबत के समय करते भी हैं उसके पास एक खुरदरी बी थी, जब मगरमच्छ उसे पानी में नीचे ले गया तो उसने मगरमच्छ के कन्धे पर वार किया ।। दर्द से कराहने के कारण जानवर ने उसे छोड़ दिया ।। वह बाहर निकल आया, उसकी जाँघ पर सरीसृप के दाँतों के गहरे निशान थे ।।

इस इलाके के लोगों में इस प्रकार की दुर्घटना के शिकार व्यक्ति के प्रति कोई दुर्भावना नहीं होती है ।। लेकिन अन्य कुछ जनजातियों में यदि किसी को इस प्रकार जानवर द्वारा काट लिया जाता है या सिर्फ सरीसृप की पूँछ से उस पर पानी फेंक दिया जाता है तो उसे जाति से बहिष्कृत कर दिया जाता है ।।

UP Board Solutions for Class 11 Samanya Hindi काव्यांजलि Chapter 5 स्वयंवर-कथा, विश्वामित्र और जनक की भेंट (केशवदास) free pdf

एक रात हम लोग ऐसे स्थल पर सोए जहाँ से अभी-अभी अण्डों से मगरमच्छ के दो बच्चे बाहर निकले थे ।। हमने थोड़ी देर पहले ही मगरमच्छ के कुछ बच्चों को देखा था, जो नदी के किनारे बालू में बड़े मगरमच्छों के साथ धूप सेंक रहे थे ।। संभवत: यही वह समय होता हो जब वे अपने घरौंदो से बाहर निकलते होंगे ।। हमने उजडे हुए घोसलों में से एक में आग जलाने का कार्य किया ।। तमाम टूटे अण्डों के खोलों के छिलके यहाँ-वहाँ छितरे हुए बिखले पड़े थे ।। UP Board Solutions for Class 11 English Prose Chapter 5 The Variety and Unity of India free pdf All Questions ans answers

एक स्थल पर हमने साठ अण्डों को देखा जो एक ही घोंसले से निकले थे ।। इनका आकार हंस के अंडे के समान है, और दबाने पर सफेद खोल थोड़ा-सा दब जाता है ।। पानी (नदी) से घोंसले की दूरी लगभग दस फुट थी, और ऐसे निशान मौजूद थे जिनसे पता चलता है कि पिछले वर्षों में भी इसी कार्य के लिए इस स्थल का प्रयोग होता रहा है ।। पानी से घोंसले तक पहुँचने के लिए एक चौड़ा रास्ता बनाया गया था ।। मेरे साथियों द्वारा बताया गया कि अण्ड़ों को यहाँ रखने के बाद माँ उनको ढक देती है और चली जाती है ।। वह बाद में वापस लौटती है ताकि बच्चों को अण्डों के भीतर से निकाला जा सके ।। Up Board Class 12th Civics Chapter 3 Liberty and Equality स्वतन्त्रता एवं समानता

छोटी और बड़ी दोनों ही प्रकार की मछलियाँ मगरमच्छ का मुख्य भोजन है और इनको पकड़ने में मगरमच्छ की शल्कदार चौड़ी पूँछ सहायता करती है ।। कभी-कभी किसी आदमी को नदी के दूसरे किनारे पर पानी के भीतर देखकर मगरमच्छ उस ओर तेज रफ्तार से भागता है ।। यह तेज रफ्तार उसके द्वारा सतह पर उछाल लेती तरंगों से देखी जा सकती है ।। लहरों का यह तेज बहाव वास्तव में मगरमच्छ द्वारा पानी के भीतर तेज गति से दौड़ने के कारण होता है ।।

शिकार को पकड़ने के लिए वे शायद ही कभी पानी से बाहर आते हों लेकिन दिन में वे प्रायः नदी से बाहर निकल आते हैं नदी का आनंद लेने के लिए ।। एक बार मगरमच्छ का छोटा-सा बच्चा जो तीन फुट लम्बा था, मेरे पैर पर आ टकराया और मुझे दूसरी दिशा में तेजी से भागने को मजबूर होना पड़ा ।। लेकिन यह असामान्य घटना थी क्योंकि ऐसी घटना की पुनरावृत्ति मैंने फिर दोबारा नहीं सुनी ।। जब वे भोजन की तलाश में रहते हैं तो वे उजाले से दूर रहना पसंद करते हैं और इसलिए रात में मछलियाँ पकड़ते हैं ।। जब वे खाते हैं, वे जोर से चपचप की आवाज करते हैं, जिसे एक बार सुनने के बाद भुला पाना संभव नहीं है ।।

MP BOARD से सम्बंधित सभी प्रकार के प्रश्नों के हल के लिए यहाँ पर क्लिक कीजिए

Up Board Class 12th Civics Chapter 3 Liberty and Equality स्वतन्त्रता एवं समानता

1 thought on “UP Board Solutions for Class 11 English Prose Chapter 7 On an African River पाठ का हिंदी अनुवाद free pdf”

Leave a Comment