Up Gram Panchayat ग्राम पंचायत उत्तर प्रदेश

Up Gram Panchayat उत्तर प्रदेश में पंचायती राज प्रणाली में सबसे निचले स्तर पर ग्राम पंचायत होती है। हर ग्राम पंचायत का अध्यक्ष ग्राम प्रधान होता है। जिसका चुनाव ग्राम सभा के वोटरों द्वारा किया जाता है। तथा इसका कार्यकाल भी 5 वर्ष होता है। हर ग्राम सभा द्वारा हर ग्राम पंचायत में एक उप प्रधान भी चुना जाता है। हर पंचायत का सचिव ग्राम विकास अधिकारी (सेक्रेटरी) या वीडियो(BDO) होता है वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश में 59163 ग्राम पंचायत और 8135 न्याय पंचायत हैं।

Up Gram Panchayat ग्राम पंचायत उत्तर प्रदेश

Up Gram Panchayat उत्तर प्रदेश में पंचायती राज प्रणाली में सबसे निचले स्तर पर ग्राम पंचायत होती है। हर ग्राम पंचायत का अध्यक्ष ग्राम प्रधान होता है। जिसका चुनाव ग्राम सभा के वोटरों द्वारा किया जाता है। तथा इसका कार्यकाल भी 5 वर्ष होता है। हर ग्राम सभा द्वारा हर ग्राम पंचायत में एक उप प्रधान भी चुना जाता है। हर पंचायत का सचिव ग्राम विकास अधिकारी (सेक्रेटरी) या वीडियो(BDO) होता है वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश में 59163 ग्राम पंचायत और 8135 न्याय पंचायत हैं।

प्रत्येक ग्राम पंचायत का सचिव

प्रत्येक ग्राम पंचायत में तैनात ग्राम पंचायत विकास अधिकारी BDO ग्राम पंचायत का सचिव भी होता है। यदि ग्राम पंचायत में एक से अधिक ग्राम पंचायत विकास अधिकारी तैनात हैं। तो उनमें से एक को ग्राम पंचायत के सचिव का कार्य ग्राम पंचायत द्वारा प्रस्ताव पारित करके किया जाता है। ग्राम निधि का संचालन प्रधान एवं ग्राम पंचायत विकास अधिकारी सचिव के संयुक्त हस्ताक्षर से किया जाता है। जिससे सभी विकास कार्य होते है ।

नियोजन एवं विकास

पंचायत समिति का कार्य ग्राम पंचायत की योजना तैयार करना होता है समिति का गठन प्रधान- सभापति करते हैं।

ग्राम प्रधान की शिकायत

किसी ग्राम पंचायत प्रधान अथवा उप प्रधान के विरुद्ध शिकायत शपथ पत्र सहित केवल जिला मजिस्ट्रेट अथवा सरकार को ही प्रस्तुत की जा सकती है।

Leave a Comment